close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बढ़ते हवाई किराये एविएशन मिनिस्टर की पैनी नजर, दिया यह आदेश

वित्तीय संकट से जूझ रही जेट एयरवेज की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं. इस बीच घरेलू उड़ानों के आसमान छूते किराये से यात्री से लेकर सरकार तक परेशान है.

बढ़ते हवाई किराये एविएशन मिनिस्टर की पैनी नजर, दिया यह आदेश

नई दिल्ली : वित्तीय संकट से जूझ रही जेट एयरवेज की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं. इस बीच घरेलू उड़ानों के आसमान छूते किराये से यात्री से लेकर सरकार तक परेशान है. ऐसे में नागर विमानन मंत्री सुरेश प्रभु ने एविएशन सेक्रेटरी प्रदीप सिंह खारोला को आदेश दिया है कि हवाई किरायों को काबू में रखने के लिए जरूरी कदम उठाए जाएं. साथ ही जेट एयरवेज से जुड़े विभिन्न मुद्दों की समीक्षा करने का भी निर्देश दिया है.

डिमांड और सप्लाई का गणित लड़खड़ाया
जेट के संकट में घिरने से एविएशन सेक्टर में डिमांड और सप्लाई का गणित लड़खड़ा गया है. यही कारण है कि कुछ दिन पहले जहां इंटरनेशनल रूट के हवाई किराये बेकाबू हो गए थे, वहीं अब डोमेस्टिक या फिर घरेलू उड़ानों के किराये भी कई गुना बढ़ गए हैं. आपको जानकर हैरानी होगी कि सोमवार को दिल्ली मुंबई रूट का किराया 60 हजार रुपये तक पहुंच गया था.

सेक्रेटरी को जरूरी कदम उठाने का आदेश
जेट एयरवेज की बिगड़ती हालात और किरायों को काबू में रखने के लिए दोनों मुद्दों पर एविएशन मंत्री ने सेक्रेटरी से जरूरी कदम उठाने का आदेश दिया है. इस समय जेट एयरवेज के बमुश्किल पांच एयरक्राफ्ट उड़ रहे हैं. इसके अलावा उसने अंतरराष्ट्रीय परिचालन को भी अस्थायी तौर पर निलंबित कर दिया है. इस कारण एविएशन सेक्टर में सप्लाई या फिर फ्लाइट ऑप्शन के लिहाज से जबरदस्त गिरावट आई है.

प्रभु ने ट्वीट कर कहा, 'नागर विमानन मंत्रालय के सचिव को उड़ान की कीमतों में इजाफा, उड़ानों के रद्द होने और जेट एयरवेज से जुड़े मुद्दों की समीक्षा का निर्देश दिया है.' मंत्री ने सभी से यात्रियों के हित में काम करने का आह्वान किया है.