close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

कॉस्ट कटिंग के नाम पर दुनिया की इतनी बड़ी कंपनी में टॉयलेट पेपर की किल्लत!

बेव पोर्टल इलेक्ट्रेक की रिपोर्ट के अनुसार, टेस्ला के विभिन्न केंद्र पर लागत में कटौती के मद्देनजर दफ्तर के टॉयलेट में टॉयलेट पेपर का भी ऑर्डर नहीं दिया जा रहा है. हालांकि, इस रिपोर्ट को खुद मस्क ने खारिज किया है.

कॉस्ट कटिंग के नाम पर दुनिया की इतनी बड़ी कंपनी में टॉयलेट पेपर की किल्लत!
टेस्ला को पिछले क्वार्टर में करीब 702 मिलियन डॉलर (4900 करोड़) का नुकसान हुआ है.

सैन फ्रैंसिस्को: टेस्ला में पिछले कुछ समय से सबकुछ ठीक नहीं चल रहा है. बीते दिनों मीडिया में खबर आई थी कि कॉस्ट कटिंग के नाम पर टेस्ला ने टॉयलेट सुविधा में भी कटौती कर दी है. बेव पोर्टल इलेक्ट्रेक की रिपोर्ट के अनुसार, टेस्ला के विभिन्न केंद्र पर लागत में कटौती के मद्देनजर दफ्तर के टॉयलेट में टॉयलेट पेपर का भी ऑर्डर नहीं दिया जा रहा है. हालांकि, इस रिपोर्ट को खुद मस्क ने खारिज किया है.

मस्क ने पोर्टल की इस खबर पर जवाब देते हुए शनिवार को कहा, "यह पूरी तरह बेतुकी बात है." इलेक्ट्रेक के प्रधान संपादक फ्रेड लैबर्ट ने मस्क को जवाब देते हुए कहा, "मैं कामना करता हूं कि यह सच न हो, लेकिन कर्मचारियों के विश्वस्त सूत्रों के हवाले से यह खबर आई है."

टेस्ला को पिछले क्वार्टर में करीब 702 मिलियन डॉलर (4900 करोड़) का नुकसान हुआ है. इतने बड़े नुकसान के बाद कंपनी ने कॉस्ट कटिंग शुरू कर दी है. दावा किया या जा रहा है कि कॉस्ट कटिंग के नाम पर स्पेयर पार्ट पर होने वाले खर्च, कर्मचारियों की सैलरी, ट्रैवल एक्सपेंस पर नजर रखी जा रही है. खुद मस्क छोटे-छोटे खर्च पर नजर रख रहे हैं. वर्तमान में टेस्ला का मार्केट वैल्यू 61 बिलियन डॉलर (4.2 लाख करोड़ रुपये) है. एलन मस्क की अपनी संपत्ति 20 अरब डॉलर (1.4 लाख करोड़) है और वे दुनिया के 80वें सबसे अमीर शख्स हैं.