देश की सबसे बड़ी कोयला खान बीरभूम में होगी: ममता बनर्जी

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने राज्य में देश की सबसे बड़ी कोयला खान के विकास के लिये नये उद्यम स्थापित किये जाने की आज (गुरुवार) घोषणा की। उन्होंने केंद्र पर विकास से जुड़ी परियोजनाओं में भी असहयोग का भी आरोप लगाया।

देश की सबसे बड़ी कोयला खान बीरभूम में होगी: ममता बनर्जी

सुरी (पश्चिम बंगाल) : मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने राज्य में देश की सबसे बड़ी कोयला खान के विकास के लिये नये उद्यम स्थापित किये जाने की आज (गुरुवार) घोषणा की। उन्होंने केंद्र पर विकास से जुड़ी परियोजनाओं में भी असहयोग का भी आरोप लगाया।

ममता ने कहा कि बीरभूम जिले में देवचा-पचामी में खान के विकास के लिये विशेष उद्देश्यीय कंपनी बंगाल बीरभूम कोलफील्ड्स लि. का गठन किया गया है। उन्होंने कहा कि यह ब्लॉक संयुक्त रूप से पश्चिम बंगाल, बिहार, पंजाब, उत्तर प्रदेश, कर्नाटक, तमिलनाडु और सतलुज जल विद्युत निगम लि. को दिया गया है।

दवेचार पाचामी कोयला ब्लॉक देश में सबसे बड़ा कोयला ब्लॉक है। इसमें कोयला भंडार 210 करोड़ टन अनुमानित है। इसमें बंगाल को सर्वाधिक 58.4 करोड़ टन हिस्सेदारी मिलेगी। उसके बाद बिहार को 48.6 करोड़ टन मिलेगा।

केंद्रीय बिजली और कोयला मंत्री पीयूष गोयल के साथ इस संदर्भ में बातचीत का जिक्र करते हुए ममता ने कहा, ‘मैंने इसके सुचारू रूप से क्रियान्वयन के लिये मंत्री को यह खान हमें देने को कहा है।’ खान से बंगाल तथा अन्य राज्यों के बिजली संयंत्रों को कोयला दिया जाएगा। उन्होंने यह भी कहा कि इससे बड़े पैमाने पर रोजगार सृजित होंगे तथा सामाजिक-आर्थिक बुनियादी ढांचे में बदलाव आएगा। मुख्यमंत्री ने कहा, ‘केंद्र के असहयोग के बावजूद हम राज्य में कई विकास कार्यक्रम को आगे बढ़ाने में कामयाब हुए हैं।’