close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

घाटी के युवाओं के लिए सरकार की बड़ी योजना, लाखों लोगों को दिया जाएगा प्रशिक्षण

जम्मू-कश्मीर और लद्दाख में युवाओं के कौशल विकास और उनको रोजगार मुहैया कराने के लिये कौशल विकास मंत्रालय ने बड़ी कार्ययोजना तैयार की है. मंत्रालय के अधिकारियों की टीम ने वहां का दौरा करने के बाद अपनी रिपोर्ट केंद्रीय कौशल विकास मंत्री महेंद्र नाथ पांडेय को सौंप दी है.

घाटी के युवाओं के लिए सरकार की बड़ी योजना, लाखों लोगों को दिया जाएगा प्रशिक्षण

नई दिल्ली : जम्मू-कश्मीर और लद्दाख में युवाओं के कौशल विकास और उनको रोजगार मुहैया कराने के लिये कौशल विकास मंत्रालय ने बड़ी कार्ययोजना तैयार की है. मंत्रालय के अधिकारियों की टीम ने वहां का दौरा करने के बाद अपनी रिपोर्ट केंद्रीय कौशल विकास मंत्री महेंद्र नाथ पांडेय को सौंप दी है. इसके अनुसार हैंडीक्रॉफ्टी, कंस्ट्रक्शन, आईटी, टूरिज्म एंड हॉस्पिटेलिटी, टेक्सटाइल, फूड प्रोसेसिंग और हेल्थकेयर पर जोर दिया जाएगा.

10,000 लोगों को प्रशिक्षित करने का लक्ष्य
केंद्रीय मंत्री ने बताया कि हर सेक्टर में कम से कम 10,000 लोगों को प्रशिक्षित करने का लक्ष्य रखा गया है. अगर इस काम में नियमों में कोई नरमी बरतने की जरूरत पड़ेगी तो वो भी किया जाएगा. पूरी योजना पर होने वाले खर्च को केंद्र सरकार वहन करेगी. राज्य सरकार इसके लिए जमीन, बिल्डिंग की व्यवस्था करेगी, जिससे कि योजना को तेजी से अमल में लाया जा सके. काउंसलिंग उम्मीदवार के लिए 14 से 25 साल की उम्र के युवाओं को तरजीह दी जाएगी. प्रशिक्षित युवाओं को राज्य और राज्य के बाहर में निजी और सरकारी क्षेत्र में रोजगार मिले, यह मॉडल तैयार किया जाएगा.

इस बारे में रिपोर्ट तैयार हो चुकी है. इसे किस फ्रेमवर्क में लॉन्च करना है, इस पर काम किया जा रहा है. बहुत जल्द ही इसे लॉन्च किया जाएगा. सरकार की कोशिश जम्मू-कश्मीर में रोजगार के अवसर बढ़ाने की है और वहां के युवाओं की देश की मुख्य धारा में उनकी शिरकत हो. युवाओं के हाथों में पत्थर की जगह, कौशल के यंत्र हो, उसका प्रयास कर रहे हैं और वहां का जो हस्तशिल्प है उसका पूरी दुनिया में नाम हो. उसको हम प्रमोट कर रहे हैं.

जम्मू घाटी, श्रीनगर और लद्दाख इन तीनों का अपना अलग-अलग नेचर ऑफ सिचुएशन है. उसके हिसाब से कहां क्या स्किल है और क्या-क्या प्रमोट किया जा सकता है, इस पर हमारी टीम अध्ययन करके अपनी रिपोर्ट देगी. जम्मू-कश्मीर में विशेषकर घाटी में बहुत जल्द हम वहां पर कौशल विकास योजना का विस्तार करेंगे और वहां के हैंडीक्राफ्ट को बढ़ावा देने की कोशिश की जा रही है. वहां के सेंटर को बड़े सेंटर में तब्दील करेंगे. आपने देखा जब 31 अक्टूबर के बाद जो परिवर्तन हुए वह लागू होने वाले हैं, तो उसके पूर्व ही हम यह सारी तैयारियां कर लेंगे.