close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

US फेडरल रिजर्व के फैसले के बाद शेयर बाजार में गुलजार, Sensex 489 अंक उछला

बीएसई का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक कारोबार के दौरान 700 अंक के दायरे में उतार-चढ़ाव रहा. 

US फेडरल रिजर्व के फैसले के बाद शेयर बाजार में गुलजार, Sensex 489 अंक उछला
निफ्टी 11,831.75 अंक पर बंद हुआ. (फाइल)

मुंबई: अमेरिका के फेडरल रिजर्व के निकट भविष्य में ब्याज दर कम करने के संकेत देने के बाद वैश्विक बाजारों में तेजी का असर घरेलू शेयर बाजारों में भी देखा गया. बंबई शेयर बाजार में गुरुवार को संवेदी सूचकांक 489 अंक उछल गया. बीएसई का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक कारोबार के दौरान 700 अंक के दायरे में उतार-चढ़ाव रहा. कारोबार की समाप्ति पर सेंसेक्स 488.89 अंक यानी 1.25 प्रतिशत मजबूत होकर 39,601.63 अंक पर बंद हुआ. कारेाबार के दौरान एक समय यह ऊंचे में 39,638.64 अंक और नीचे में 38,933.78 अंक तक आया. इसी तरह एनएसई का निफ्टी भी 140.30 अंक यानी 1.20 प्रतिशत की तेजी के साथ 11,831.75 अंक पर बंद हुआ.

अमेरिकी फेडरल रिजर्व ने ब्याज दरों को बरकरार रखा
कारोबारियों ने कहा कि अमेरिकी फेडरल रिजर्व के नीतिगत निष्कर्ष के बाद वैश्विक बाजारों की मजबूती से घरेलू निवेशकों को सकारात्मक संकेत मिले. फेडरल रिजर्व ने बुधवार को समीक्षा बैठक में ब्याज दर अपरिवर्तित रखी लेकिन उसने संकेत दिये कि आने वाले समय में वह ब्याज दर में कटौती करने में हिचकिचायेगा नहीं. इसके अलावा मजबूत रुपये तथा बजट में कारोबार के अनुकूल कदमों की उम्मीद ने भी बाजार की धारणा को मजबूत किया.

यस बैंक का शेयर 11 फीसदी चढ़ा
सेंसेक्स में शामिल कंपनियों में यस बैंक सर्वाधिक 10.94 प्रतिशत चढ़ा है. अन्य कंपनियों में सन फार्मा, इंडसइंड बैंक, एलएंडटी, आईसीआईसीआई बैंक, मारुति सुजुकी, बजाज ऑटो, टाटा मोटर्स और ओएनजीसी के शेयरों में 4.01 प्रतिशत तक की तेजी रही. हालांकि, इसके विपरीत हिंदुस्तान यूनिलीवर्स, एचडीएफसी बैंक, आईटीसी और एनटीपीसी के शेयर 0.26 प्रतिशत लुढ़क गये. इस बीच जेट एयरवेज का शेयर पिछले 13 कारोबारी सत्रों में 90 प्रतिशत गिरने के बाद गुरुवार को 93 प्रतिशत उछल गया. जियोजीत फाइनेंशियल सर्विसेज के शोध प्रमुख विनोद नायर ने कहा, ‘‘बाजार में इस बात की चिंता थी कि सरकार ने अब तक सुस्त पड़ती अर्थव्यवस्था को तेज करने के प्रयासों का कोई संकेत नहीं दिया है. प्रधानमंत्री और वित्तमंत्री द्वारा 100 दिवसीय एजेंडा तथा बजट की रूपरेखा तैयार करने के लिये कई बैठकें करने से बाजार को भरोसा मिला.’’ 

ऑटो सेक्टर में दिखी तेजी
बीएसई के समूह सूचकांक में वाहन, पूंजीगत वस्तुएं, चिकित्सा, दूरसंचार, टिकाउ उपभोक्ता उत्पाद, रियल्टी और धातु वर्ग के सूचकांक में 2.46 प्रतिशत तक की तेजी रही. बीएसई का मिडकैप और स्मॉलकैप भी 1.64 प्रतिशत तक मजबूत हो गया. एशियाई बाजारों में चीन का शंघाई कंपोजिट, जापान का निक्की, दक्षिण कोरिया का कोस्पी और हांग कांग का हैंग सेंग तेजी में रहे. शुरुआती सौदों में यूरोपीय बाजार भी तेजी में रहे. रुपया 11 पैसे मजबूत होकर 69.57 रुपये प्रति डॉलर पर चल रहा था. ब्रेंट क्रूड वायदा भी 2.67 प्रतिशत मजबूती के साथ 63.47 डॉलर प्रति बैरल पर चल रहा था.