close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

विजय माल्या ने सचिन पायलट और ज्‍योतिरादित्‍य सिंधिया को कहा 'यंग चैंपियंस', दी चुनाव में जीत की बधाई

पांच राज्यों में से तीन में कांग्रेस की जीत के बाद पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी को बधाई देने वालों का तांता लगा हुआ है. चारों तरफ इस जीत के लिए राहुल गांधी के नेतृत्व की बात कही जा रही है.

विजय माल्या ने सचिन पायलट और ज्‍योतिरादित्‍य सिंधिया को कहा 'यंग चैंपियंस', दी चुनाव में जीत की बधाई

नई दिल्ली : पांच राज्यों में से तीन में कांग्रेस की जीत के बाद पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी को बधाई देने वालों का तांता लगा हुआ है. चारों तरफ इस जीत के लिए राहुल गांधी के नेतृत्व की बात कही जा रही है. लेकिन इस सबके बीच एक ऐसे शख्स ने सचिन पायलट और ज्‍योतिरादित्‍य सिंधिया को जीत की बधाई दी है जिसके प्रत्यर्पण के लिए भारत सरकार लगातार कोशिश कर रही है. उस शख्स का नाम है विजय माल्या. शराब कारोबारी विजय माल्या ने अपने ट्विटर हैंडल के जरिये सचिन पायलट और ज्‍योतिरादित्‍य सिंधिया को विधानसभा चुनाव में जीत की बधाई दी है.

रिजल्ट आने के एक दिन बाद दी बधाई
विजय माल्‍या ने अपने ट्विटर अकाउंट पर लिखा है 'युवा चैंपियन, सचिन पायलट और ज्‍योतिरादित्‍य सिंधिया को बधाई'. माल्‍या ने यह ट्विट विधानसभा चुनावों का रिजल्ट आने ठीक एक दिन बाद किया है. कुछ लोग माल्‍या के ट्विट के अलग-अलग मायने निकाल रहे हैं. आपको बता दें कि देश के कई बड़े बैंकों का 9 हजार करोड़ रुपये से भी ज्यादा लेकर फरार हुए विजय माल्या के प्रत्यर्पण का रास्ता साफ हो चुका है. लंदन की वेस्टमिनिस्टर कोर्ट ने माल्‍या को भारत भेजने की इजाजत दे दी है. माल्या का ट्विट ऐसे समय में आया है जब सचिन पायलट और ज्‍योतिरादित्‍य सिंधिया का नाम मुख्यमंत्री पद की रेस में माना जा रहा है.

कोर्ट ने माल्या के प्रत्यर्पण की अनुमति दी
मुख्य मजिस्ट्रेट जज एम्मा आर्बुथनॉट ने माल्या के भारत प्रत्यर्पण की अनुमति दी, ताकि उनके खिलाफ भारतीय जांच एजेंसियों, केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई), प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की जांच के आधार पर मुकदमा चलाया जा सके. अब इस मामले पर ब्रिटेन के गृह मंत्री साजिद जाविद को औपचारिक फैसला करना है. जाविद ब्रिटेन की प्रधानमंत्री टेरेसा मे की कैबिनेट के सबसे वरिष्ठ मंत्री हैं. वह पाकिस्तानी मूल के हैं.

जाविद के पास इस बाबत फैसला लेने के लिए दो महीने का समय है, लेकिन अगर पूरी अपील प्रक्रिया पर गौर करें तो प्रत्यर्पण की पूरी प्रक्रिया में अधिक समय लग सकता है. ब्रिटेन के गृह मंत्रालय ने कहा है कि उसे माल्या के भारत प्रत्यर्पण को लेकर वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट की अदालत का फैसला मिल गया है. भारत सरकार का पक्ष रखने वाले क्राउन प्रोसक्यूशन सर्विस (सीपीएस) के प्रवक्ता ने कहा, 'इस मामले पर गौर करने के बाद गृह मंत्री को लगता है कि प्रत्यर्पण को हरी झंडी दी जा सकती है तो इसके लिए उनके पास दो महीने का समय होगा.'

प्रवक्ता ने कहा, 'उनके फैसले के बाद हारने वाला पक्ष 14 दिन के भीतर उच्च न्यायालय में अपील कर सकता है.' आपको बता दें कि भारतीय जांच एजेंसियां माल्या को प्रत्यर्पित करा स्वदेश वापस लाने की कोशिश पिछले काफी समय से कर रही थी.