यूरेनियम आपूर्ति से भारत की मदद करना चाहते हैं: आस्ट्रेलिया

आर्थिक वृद्धि के मोर्चे पर भारत के साथ चलने की मंशा जताते हुए आस्ट्रेलिया ने कहा है कि वह द्विपक्षीय व्यापार संबंधों को बढावा देने के लिए साझा लाभ वाला मुक्त व्यापार समझौता चाहता है। इसके साथ ही वह भारत को उसकी ऊर्जा जरूरतों के लिए यूरेनियम आपूर्ति के जरिए मदद करने की इच्छा रखता है।

नई दिल्ली : आर्थिक वृद्धि के मोर्चे पर भारत के साथ चलने की मंशा जताते हुए आस्ट्रेलिया ने कहा है कि वह द्विपक्षीय व्यापार संबंधों को बढावा देने के लिए साझा लाभ वाला मुक्त व्यापार समझौता चाहता है। इसके साथ ही वह भारत को उसकी ऊर्जा जरूरतों के लिए यूरेनियम आपूर्ति के जरिए मदद करने की इच्छा रखता है।

आस्ट्रेलिया की विदेश मंत्री जूलिया बिशप ने भारत को ‘महत्वपूर्ण राष्ट्र व विश्व नेता’ करार देते हुए कहा कि दोनों देशों को भारत प्रशांत क्षेत्र के अन्य देशों के साथ मिलकर काम करना चाहिए ताकि शांति, स्थिरता व आर्थिक वृद्धि सुनिश्चित हो। वे यहां ‘इंडो-पैसेफिक ओरेशन’ के उद्धाटन सत्र को संबेाधित कर रही थीं। उन्होंने आस्ट्रेलिया- भारत व्यापक आर्थिक सहयोग समझौते को जल्द सिरे चढाने का समर्थन करते हुए कहा कि वाणिज्यिक रूप से सार्थक समझौता हमारी दोनों अर्थव्यवस्थाओं को आगे बढने में मददगार होगा। उन्होंने कहा कि आस्ट्रेलिया का दक्षिण अ्रफीका, जापान व चीन से मुक्त व्यापार समझौता (एफटीए) है तथा वह अब भारत के साथ यह समझौता करना चाहता है।

उल्लेखनीय है कि आस्ट्रेलिया का भारत के साथ वस्तु व सेवा व्यापार 2013-14 में 12.12 अरब डालर था।