इच्छाशक्ति से ही आर्थिक वृद्धि के रास्ते पर लौटा जा सकता है: PM Modi

प्रधानमंत्री (Prime Minister) ने देश को प्रगति के नये रास्ते पर आगे ले जाने के लिये नये संरचनात्मक सुधारों को बढ़ाने का संकल्प जताते हुये आत्मनिर्भर भारत की अवधारणा को समझाया. उन्होंने कहा कि इसका अर्थ है जहां दुनिया के लिये भारत में उत्पाद तैयार किये जायेंगे और एक ऐसा देश जो कि अपनी रणनीतिक जरूरतों के लिए दूसरों पर निर्भर न हो.

इच्छाशक्ति से ही आर्थिक वृद्धि के रास्ते पर लौटा जा सकता है: PM Modi
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने देश की आर्थिक वृद्धि के लिए लोगों को इच्छाशक्ति को महत्वपूर्ण बताया है. वैश्विक रेटिंग एजेंसी मूड़ीज की ओर से भारत की क्रेडिट रेटिंग घटाने के एक दिन बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को जोर देते हुये कहा कि भारत निश्चित रूप से अपनी आर्थिक वृद्धि (Economy Growth) फिर से हासिल कर लेगा और कहा कि लॉकडाउन के दौरान जो सुधार शुरू किये गये हैं उनसे आने वाले समय में अर्थव्यवस्था (Economy) को मदद मिलेगी.

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि भारत को उच्च वृद्धि के रास्ते पर वापस लाने के लिए इच्छाशक्ति, समावेश, निवेश, बुनियादी ढांचा और नवाचार महत्वपूर्ण है. उन्होंने कहा, 'एक तरफ हमें अपने लोगों के जीवन को सुरक्षित करना होगा और दूसरी तरफ हमें अर्थव्यवस्था को स्थिर करना होगा और अर्थव्यवस्था को गति देनी होगी.’

ये भी पढ़ें: आपको मिलता है 6 लाख रुपये का फायदा, PF खाताधारकों के लिए है मुफ्त

प्रधानमंत्री ने देश को प्रगति के नये रास्ते पर आगे ले जाने के लिये नये संरचनात्मक सुधारों को बढ़ाने का संकल्प जताते हुये आत्मनिर्भर भारत की अवधारणा को समझाया. उन्होंने कहा कि इसका अर्थ है जहां दुनिया के लिये भारत में उत्पाद तैयार किये जायेंगे और एक ऐसा देश जो कि अपनी रणनीतिक जरूरतों के लिए दूसरों पर निर्भर न हो.

प्रधानमंत्री मोदी यहां भारतीय उद्योग परिसंघ (सीआईआई) की वार्षिक आम बैठक को संबोधित कर रहे थे. उन्होंने कहा कि सरकार ने कोरोना वायरस महामारी से लड़ने के लिए कठोर कदम उठाए हैं और साथ ही अर्थव्यवस्था का भी ध्यान रखा है. उन्होंने भारतीय उद्योगपतियों से परीक्षा की इस घड़ी में ग्रामीण भारत के साथ साझेदारी करने और इस अवसर में भागीदार बनने का आह्वान किया.

उन्होंने कहा, 'कोरोना ने भले ही हमारी (वृद्धि की) गति को धीमा कर दिया है, लेकिन भारत अब लॉकडाउन से आगे बढ़कर अनलॉक के पहले चरण में प्रवेश कर चुका है. अनलॉक चरण-1 ने अर्थव्यवस्था के एक बड़े हिस्से को फिर खोल दिया है.’ उन्होंने कहा कि भारतीय उद्योग ने एक बार फिर वृद्धि की बातें करनी शुरू कर दी हैं. उन्होंने जोर दिया, 'हां, हम निश्चित रूप से अपनी वृद्धि को पुन: हासिल करेंगे.’