थोक महंगाई दर में शून्य से 4.05 फीसदी की ऐतिहासिक गिरावट दर्ज

थोक मूल्य सूचकांक ( WPI) की मुद्रास्फीति में जुलाई महीने में शून्य से 4.05 की ऐतिहासिक गिरावट दर्ज की गई है। जुलाई में थोक मूल्य सूचकांक की मुद्रास्फीति घटकर - 4.05 फीसदी रह गई है जबकि जून में यह शून्य से 2.40 प्रतिशत नीचे थी। WPI मुद्रास्फीति के संकुचन का यह लगातार नौवा महीना है।

थोक महंगाई दर में शून्य से 4.05 फीसदी की ऐतिहासिक गिरावट दर्ज

नई दिल्ली: थोक मूल्य सूचकांक ( WPI) की मुद्रास्फीति में जुलाई महीने में शून्य से 4.05 की ऐतिहासिक गिरावट दर्ज की गई है। जुलाई में थोक मूल्य सूचकांक की मुद्रास्फीति घटकर - 4.05 फीसदी रह गई है जबकि जून में यह शून्य से 2.40 प्रतिशत नीचे थी। WPI मुद्रास्फीति के संकुचन का यह लगातार नौवा महीना है।

खाद्य वस्तुओं की मुद्रास्फीति और कमोडिटी कीमतों में गिरावट की वजह से थोक मूल्य सूचकांक में गिरावट आ रही है। जिन मेन्युफेक्चरिंग प्रोडेक्ट का थोक मूल्य सूचकांक में 65 फीसदी वेटेज था पिछले महीने उनमें 0.77 से -1.47 पर्सेंट की गिरावट आई है। इस बीच, खाद्य वस्तुओं की मुद्रास्फीति में -1.16 फीसदी की गिरावट आई है जबकि पिछले महीने 2.2 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई थी। जुलाई महीने में सब्जियों की मुद्रास्फीति में 24.52 फीसदी का संकुचन आया है जबकि जून में यह 7.07 फीसदी था। 

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.