close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

विश्व व्यापार संगठन के व्यापार मंत्रियों की अगले महीने पेरिस में बैठक

भारत और अमेरिका सहित विश्व व्यापार संगठन (डब्ल्यूटीओ) के प्रमुख सदस्य देशों के व्यापार मंत्रियों की एक अहम बैठक अगले महीने पेरिस में होगी जिसमें दोहा दौर की वार्ता के लंबित मुद्दों पर विचार विमर्श करने के साथ ही दिसंबर में नैरोबी में होने वाली मंत्रिस्तरीय बैठक के लिये एजेंडा को अंतिम रूप दिया जायेगा।

नयी दिल्ली : भारत और अमेरिका सहित विश्व व्यापार संगठन (डब्ल्यूटीओ) के प्रमुख सदस्य देशों के व्यापार मंत्रियों की एक अहम बैठक अगले महीने पेरिस में होगी जिसमें दोहा दौर की वार्ता के लंबित मुद्दों पर विचार विमर्श करने के साथ ही दिसंबर में नैरोबी में होने वाली मंत्रिस्तरीय बैठक के लिये एजेंडा को अंतिम रूप दिया जायेगा।

वाणिज्य मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, यह बैठक आर्थिक सहयोग और विकास संगठन (ओईसीडी) की 4 या 5 जून को पेरिस में होने वाली बैठक के मौके पर होगी।

भारत ने हाल ही में डब्ल्यूटीओ की दोहा दौर के लंबित मुद्दों को सुलझाने के लिये नैरोबी में होने वाली मंत्रिस्तरीय बैठक के लिये एजेंडा को अंतिम रूप देने के मामले में हो रही धीमी प्रगति पर चिंता व्यक्त की थी।

भारत और अमेरिका के अलावा यूरोपीय यूनियन, ऑस्ट्रेलिया, ब्राजील, दक्षिण अफ्रीका और चीन के व्यापार मंत्रियों सहित करीब 15 देशों के व्यापार मंत्रियों के इस बैठक में शामिल होने की उम्मीद है। डब्ल्यूटीओ के महानिदेशक रॉबटरे एजेवेदो भी विचार विमर्श में भाग लेंगे।

भारत इस अवसर पर लंबे समय से रकी पड़ी दोहा दौर की बातचीत में कृषि, बाजार पहुंच और सेवाओं से जुड़े मुद्दे पर अपने विचार प्रस्तुत करेगा। कृषि मामले में भारत निर्यात सब्सिडी, कपास और मछलीपालन सब्सिडी का मुद्दा शामिल है।

ओईसीडी बैठक के अवसर पर होने वाली इस बैठक में डब्ल्यूटीओ की नैरोबी में 15 से 18 दिसंबर के दौरान होने वाली मंत्रिस्तरीय बैठक के लिये एजेंडा को अंतिम रूप दिया जायेगा। मंत्रिस्तरीय बैठक डब्ल्यूटीओ की शीर्ष निर्णय लेने वाली संस्था है। एक अनुमान के मुताबिक दोहा दौर की बातचीत के सफलतापूर्वक संपन्न होने से विश्व व्यापार में सालाना 200 अरब डॉलर तक की वृद्धि हो सकती है।