Yes Bank खुल तो गया है, लेकिन RBI ने लगाए हैं ये शर्तें जिन्हें करना होगा लागू

बैंक को कई नियम व शर्तों के साथ ही काम चालू करने की अनुमति मिली है.

Yes Bank खुल तो गया है, लेकिन RBI ने लगाए हैं ये शर्तें जिन्हें करना होगा लागू
फाइल फोटो

नई दिल्ली: बुधवार शाम से यस बैंक (Yes Bank) खुल गया है. रिजर्व बैक ऑफ इंडिया (RBI) ने बैंक पर लगी पाबंदी हटा दी है. लेकिन आपको शायद पता नहीं होगा कि बैंक को कई नियम व शर्तों के साथ ही काम चालू करने की अनुमति मिली है. अब धीरे–धीरे सभी नियम सामने आ रहे हैं.

कोई लोन नहीं दे सकता यस बैंक
गुरुवार को आरबीआई ने कहा है कि यस बैंक फिलहाल किसी भी संस्था को लोन नहीं देगा. इसका मतलब ये हुआ कि बैंक अपना बुनियादी काम नहीं कर पाएगा. इसके अलावा बैक को सख्त हिदायत दिया गया है कि बिना RBI से इजाजत लिए कोई अतिरिक्त खर्च नहीं किया जाए. किसी भी ऐसे खर्चे के लिए बैंक को आरबीआई से मंजूरी लेनी होगी. साथ ही बैंक को कहा गया है कि किसी भी मौजूदा लोन को रिन्यू न किया जाए.

इससे पहले सोमवार को आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास ने यस बैंक के जमाकर्ताओं को आश्वस्त किया कि उनकी गाढ़ी कमाई सुरक्षित है. उन्होंने यस बैंक की पुनर्गठन योजना को विश्वसनीय और टिकाऊ बताया था. दास ने यह भी कहा कि जरूरत पड़ी तो केंद्रीय बैंक इस निजी बैंक में अतिरिक्त तरलता डालेगा. उन्होंने बैंक के पुनर्गठन को एक ऐतिहासिक घटना बताया, और कहा कि यह पहला उदाहरण है जब एक कमजोर और विफल बैंक का किसी मजबूत बैंक के साथ विलय नहीं किया गया, बल्कि इसके बदले आरबीआई ने इस बैंक का पुनर्गठन किया. 

ये भी पढ़ें: सिर्फ एक चार्ज में लैपटॉप चलेगा पूरा दिन, इस कंपनी ने लॉन्च किया ये शानदार प्रोडक्ट

उल्लेखनीय है कि सरकार ने पिछले शनिवार को नकदी संकट से जूझ रहे यस बैंक लिमिटेड के पुनर्गठन योजना को अधिसूचित किया, जिसके साथ ही बैंक को अपना कामकाज पूर्ण रूप से शुरू करने का रास्ता साफ हो गया. अधिसूचित योजना की शर्तो के अनुसार प्रतिबंध अब 18 मार्च को शाम छह बजे समाप्त हो जाएगा. निजी बैंकों द्वारा यस बैंक में किए गए निवेश की राशि अबतक 3,950 करोड़ रुपये हो गई है. आरबीआई ने पांच मार्च से यस बैंक को अपने नियंत्रण में ले लिया था और निकासी की सीमा महीने में 50 हजार रुपये तय कर दी थी.

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.