close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

VIDEO: विश्व कप में इस खिलाड़ी ने 1 पारी में लगाए 17 छक्के, तोड़ा रोहित, गेल का रिकॉर्ड

इंग्लैंड टीम के कप्तान इयोन मोर्गन ने 18 जून को ओल्ड ट्रैफर्ड, मैनचेस्टर में अफगानिस्तान के खिलाफ खेले गए विश्व कप 2019 के मैच में 24वें मैच में मात्र 71 गेंद की अपनी पारी में 148 रन बनाए.

VIDEO: विश्व कप में इस खिलाड़ी ने 1 पारी में लगाए 17 छक्के, तोड़ा रोहित, गेल का रिकॉर्ड
10 सितंबर 1986 को जन्मे इयोन जोसफ गेरार्ड मोर्गन के नाम पर और भी कई रिकार्ड हैं. (फोटो साभार : Reuters)

नई दिल्लीः फिल्म ‘चक दे इंडिया’ में शाहरूख खान का मशहूर संवाद आपको याद होगा, जिसमें वह महिला हॉकी टीम की खिलाड़ियों को मैच के 70 मिनट की अहमियत समझा रहे हैं. इंग्लैंड की क्रिकेट टीम के कप्तान इयोन मोर्गन भी विश्व कप में अफगानिस्तान के खिलाफ 71 गेंद की अपनी उस पारी को शायद कभी भूल नहीं पाएंगे, जो कई सारे रिकार्ड उनकी झोली में डाल गई.

एक पारी में लगाए 17 छक्के
बाएं हाथ के बल्लेबाज और सीमित ओवर क्रिकेट में इंग्लैंड टीम के कप्तान इयोन मोर्गन ने 18 जून को ओल्ड ट्रैफर्ड, मैनचेस्टर में अफगानिस्तान के खिलाफ खेले गए विश्व कप 2019 के मैच में 24वें मैच में मात्र 71 गेंद की अपनी पारी में 148 रन बनाए और कुल 17 छक्के लगाए. उन्होंने इस दौरान एक पारी में सर्वाधिक छक्के मारने का रिकार्ड कायम किया और छक्कों के दिग्गज माने जाने वाले तीन खिलाड़ियों का रिकार्ड पुस्तिकाओं में दूसरे स्थान पर धकेल दिया. देखिए VIDEO...

पहले भी कई रिकॉर्ड्स कर चुके हैं अपने नाम
10 सितंबर 1986 को जन्मे इयोन जोसफ गेरार्ड मोर्गन के नाम पर और भी कई रिकार्ड हैं. मिडलसेक्स की तरफ से खेलने वाले मोर्गन इंग्लैंड की टीम का प्रतिनिधित्व करने से पहले आयरलैंड की तरफ से खेलते रहे हैं और दो देशों की तरफ से शतक बनाने वाले पहले खिलाड़ी रहे हैं. वह एकदिवसीय क्रिकेट में इंग्लैंड की तरफ से चार से ज्यादा शतक जमाने वाले अकेले बल्लेबाज हैं और पिछले साल आस्ट्रेलिया के खिलाफ घरेलू श्रृंखला में वह इयान बेल का रिकार्ड तोड़कर इंग्लैंड की तरफ से एकदिवसीय मैचों में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले खिलाड़ी बन चुके हैं. 

अब तक खेल चुके हैं 204 से ज्यादा मैच
इंग्लैंड के लिए 204 मैच खेल चुके मोर्गन के रिकार्ड की फेहरिस्त यहीं खत्म नहीं होती. इसी साल मई में पाकिस्तान के खिलाफ तीसरे एकदिवसीय मैच में मोर्गन ने इंग्लैंड के लिए 198वां मैच खेलकर सबसे अधिक मैच खेलने का रिकार्ड भी अपने नाम कर लिया. इससे पहले यह रिकार्ड पॉल कोलिंगवुड के नाम पर था. मोर्गन को रिवर्स स्वीप शॉट का माहिर माना जाता है और अंतिम ओवरों के दबाव को बखूबी झेलकर अपनी टीम की जीत का रास्ता हमवार करने के कारण उन्हें दुनिया के बेहतरीन ‘फिनिशर’ में गिना जाता है.

जानिए मोर्गन के बारे में...
मोर्गन का जन्म डबलिन में हुआ और लीसन स्ट्रीट के कैथोलिक यूनिवर्सिटी स्कूल में पढ़ाई करते हुए वह लींस्टर सीनियर स्कूल कप चैंपियन टीमों में खेले. इसी दौरान वह सप्ताह में दो बार हर्लिंग खेला करते थे. यह घास के मैदान पर खेला जाने वाला सबसे तेज खेल माना जाता है, जिसे चपटे सिरे वाले एक बल्ले और गेंद की मदद से खेला जाता है. इसी खेल में महारत के चलते उनमें एक बल्लेबाज के तौर पर रिवर्स स्वीप को इतनी खूबसूरती से लगाने का कौशल विकसित हुआ. 

पढ़ाई के दौरान ही क्रिकेट के खेल में मोर्गन की दिलचस्पी बढ़ने लगी थी और अपने हुनर को और बेहतर बनाने के लिए वह कुछ समय तक डलविच कालेज भी गए. वह आयरलैंड की अंडर-13, अंडर-15 और अंडर-17 टीमों का हिस्सा रहे और आयरलैंड की सीनियर टीम में जगह बनाने वाले सबसे कम उम्र खिलाड़ी का रिकार्ड भी अपने नाम कर लिया. 2004 के अंडर-19 विश्व कप के लिए उन्होंने आयरलैंड की तरफ से खेलते हुए सबसे ज्यादा रन बनाए और 2006 में आयरलैंड की अंडर-19 टीम का नेतृत्व किया.

दिसंबर 2014 में अलिस्टर कुक के स्थान पर 2015 विश्व कप के लिए टीम के कप्तान बनाए गए मोर्गन को उनके करियर में भले ही ताबड़तोड़ छक्के जमाने वाले बल्लेबाज के तौर पर नहीं जाना जाता, लेकिन 18 जून को 71 रन की उनकी एक पारी दुनियाभर के छक्के जड़ने वाले तमाम धुरंधरों पर भारी पड़ी.