close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

कोहली-शास्त्री के लिए निर्णायक होगा विंडीज दौरा, बांगर को देना होगा नंबर-4 का जवाब

कोच रवि शास्त्री (Ravi Shastri) के मार्गदर्शन में टीम ने ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैंड और दक्षिण अफ्रीका में शानदार प्रदर्शन किया था. 

कोहली-शास्त्री के लिए निर्णायक होगा विंडीज दौरा, बांगर को देना होगा नंबर-4 का जवाब
भारतीय क्रिकेट टीम के कोच रवि शास्त्री और कप्तान विराट कोहली. (फोटो: Reuters)

नई दिल्ली: आईसीसी विश्व कप के सेमीफाइनल में बाहर होने के बाद वेस्टइंडीज दौरा (India vs West Indies) भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) और रवि शास्त्री के लिए निर्णायक होगा. भले ही टूर्नामेंट के केवल एक मैच में टीम इंडिया (Team India) का प्रदर्शन खराब रहा हो. लेकिन इसके वावजूद टीम के प्रदर्शन की समीक्षा होनी तय है. खास बात यह है कि टीम के मौजूदा हेड कोच रवि शास्त्री का अनुबंध भी समाप्त होने वाला है. ऐसे में आगामी दौर पर टीम का प्रदर्शन बहुत महत्वपूर्ण होगा. भारत का विंडीज दौरा अगस्त में होना है. 

कोच रवि शास्त्री (Ravi Shastri) के मार्गदर्शन में टीम ने ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैंड और दक्षिण अफ्रीका में शानदार प्रदर्शन किया. वैसे तो उनका कार्यकाल समाप्त हो चुका है और उन्हें 45 दिन के अतिरिक्त समय दिया गया है. बीसीसीआई (BCCI) नए कोच के लिए आवेदन मंगा चुकी है.

प्रशासकों की समिति (सीओए) द्वारा नियुक्त की गई क्रिकेट सलाहकार समिति (सीएसी) कोच के पद के लिए नए आवेदन स्वीकार कर रही है. भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के एक अधिकारी ने कहा कि मुख्य कोच और सपोर्ट स्टाफ के लिए आवेदन आमंत्रित किए गए हैं. 

बीसीसीआई (BCCI) के इस अधिकारी ने टीम प्रबंधन को विश्व कप से भारत के बाहर होने के पर एक रिपोर्ट भी पेश करनी होगी. उन्होंने कहा, ‘न केवल प्रबंधक, बल्कि प्रत्येक कोच से रिपोर्ट मांगी जानी चाहिए. फिजियो और ट्रेनर को भी अपनी रिपोर्ट देने के लिए कहा जाना चाहिए. रिपोर्ट यह जानने के लिए आवश्यक होगी कि विजय शंकर के चोटिल होने का पूरा प्रकरण क्या था.’

अधिकारी ने कहा, ‘बल्लेबाजी कोच (संजय बांगर) को नंबर-4 के सवाल का जवाब देना चाहिए. यह स्पष्ट है कि टीम प्रबंधन ही था जो कुछ खिलाड़ियों को शामिल करने के लिए कह रहा था. उन्हें यह भी बताना होगा कि क्या उन्हें शंकर के चोटिल होने के बारे में जानकारी थी.’ पिछली बार शास्त्री के कोच बनाए जाने पर कोहली की राय ली गई थी, लेकिन इस बार ऐसा न होने की उम्मीद है.