बलिदान बैज मामला: धोनी को बदलने होंगे अपने ग्लव्स, ICC ने नहीं मानी BCCI की मांग

आईसीसी ने बीसीसीआई को आईसीसी के समक्ष यह साबित करना होगा कि धोनी के ग्लव्स का निशान कोई सैन्य निशान नहीं है. 

बलिदान बैज मामला: धोनी को बदलने होंगे अपने ग्लव्स, ICC ने नहीं मानी BCCI की मांग

नई दिल्ली: भारतीय क्रिकेट बोर्ड (BCCI) को एमएस धोनी के बलिदान बैज वाले ग्लव्स मामले में झटका लगा है. आईसीसी (ICC) ने एमएस धोनी को उस ग्लव्स को पहनकर विकेटकीपिंग करने की इजाजत नहीं दी है, जिसमें बलिदान बैज का निशान है. एमएस धोनी (MS Dhoni) ने आईसीसी वर्ल्ड कप के अपने पहले मैच में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ यह ग्लव्स पहनकर उतरे थे. आईसीसी ने इसे आपत्तिजनक माना था. उसने कहा था कि धोनी को इस निशान वाले ग्लव्स नहीं पहनने चाहिए. इस पर भारतीय खेलजगत ने तीखी प्रतिक्रिया दी. बीसीसीआई ने इसके बाद आईसीसी से अपील की थी कि धोनी को उसी ग्लव्स के साथ कीपिंग करने की अनुमति दी जाए, जो वे पहनना चाहते हैं. 

एमएस धोनी से जुड़ा यह मामला बुधवार को तब सामने आया, जब वे आईसीसी विश्व कप के मैच में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ बदिलान बैज वाला ग्लव्स पहनकर उतरे. यह भारतीय पैरा स्पेशल फोर्स का बलिदान बैज का निशान है. जब आईसीसी ने इस पर आपत्ति जताई तो भारतीय खेलप्रेमियों ने सोशल मीडिया के जरिए धोनी के प्रति समर्थन जताया. भारतीय खेल मंत्री किरन रिजिजू ने भी ट्वीट कर कहा कि बीसीसीआई को इस मामले में अपना पक्ष सख्ती से रखना चाहिए. 

इसके बाद बीसीसीआई की ओर से सीओए (CoA) के चेयरमैन विनोद राय ने कहा कि आईसीसी से यह अपील की गई कि धोनी को उस ग्लव्स के साथ ही खेलने दिया जाए. बीसीसीआई ने इसके लिए आईसीसी को चिट्ठी लिखी. सूत्रों के मुताबिक आईसीसी ने धोनी को ऐसे ग्लव्स पहनने की इजाजत देने से मना कर दिया है, जिसमें किसी तरह का धार्मिक, राजनीतिक संदेश हो. सूत्रों के मुताबिक धोनी के ग्लव्स को इसलिए इजाजत नहीं दी गई क्योंकि इसका निशान, सैन्य निशान से जुड़ा है. 

(इनपुट: PTI)