close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

''बाबर के अंदर भारत की रन मशीन विराट कोहली की तरह 'भूख', कर सकता है बराबरी''

पाकिस्तान के बल्लेबाजी कोच ग्रांट फ्लावर का मानना है कि बाबर आजम में भारत की रन मशीन विराट कोहली की तरह ‘भूख’ और प्रतिभा है कि एक दिन वह अपने आदर्श की उपलब्धियों की बराबरी कर सकता है.

''बाबर के अंदर भारत की रन मशीन विराट कोहली की तरह 'भूख', कर सकता है बराबरी''

बर्मिंघम: पाकिस्तान के बल्लेबाजी कोच ग्रांट फ्लावर का मानना है कि बाबर आजम में भारत की रन मशीन विराट कोहली की तरह ‘भूख’ और प्रतिभा है कि एक दिन वह अपने आदर्श की उपलब्धियों की बराबरी कर सकता है. न्यूजीलैंड के खिलाफ बुधवार को विश्व कप के करो या मरो के मुकाबले में बाबर ने नाबाद शतक जड़ा जिससे पाकिस्तान ने छह विकेट से जीत दर्ज की.

फ्लावर ने कहा, ‘‘वह विशेष है. मेरा मानना है कि वह पाकिस्तान के सर्वकालिक सर्वश्रेष्ठ क्रिकेटरों में शामिल होगा. उसमें काफी भूख है, फिट है और अब भी काफी युवा है.’’ कोहली से तुलना के बारे में पूछे जाने पर फ्लावर ने कहा, ‘‘मुझे लगता है कि अगर वह अपने पैर जमीन पर रखता है तो उसका करियर काफी अच्छा रहेगा. उसमें विराट की तरह की भूख है. मुझे लगता है कि भविष्य में कभी वह उसकी बराबरी कर पाएगा.’’

न्यूजीलैंड के 238 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए पाकिस्तान ने 25 ओवर तक तीन विकेट पर 110 रन बनाए थे लेकिन बाबर ने एजबस्टन में 101 रन की पारी खेलकर टीम को जीत दिला दी. जिंबाब्वे के पूर्व सलामी बल्लेबाज फ्लावर ने कहा, ‘‘निश्चित तौर पर उसके अंदर वह भूख है इसलिए अगर वह उसकी (कोहली की) तरह कड़ा अभ्यास जारी रखेगा और आपके पास उसकी तरह का कौशल है तो मुझे कोई कारण नजर नहीं आता कि वह शीर्ष तक नहीं पहुंच सके.’’

बाबर आजम
बाबर अपनी इस पारी के दौरान एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैचों में दूसरी सबसे कम पारियों में 3000 रन पूरे करने में सफल रहे. उन्होंने 68 पारियों में यह उपलब्धि हासिल की जो कोहली ने सात पारी कम है. रिकार्ड दक्षिण अफ्रीका के हाशिम अमला के नाम है जिन्होंने सिर्फ 57 पारियों में यह उपलब्धि हासिल की थी.

(इनपुट: एजेंसी भाषा)