close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

विराट बाबू, बॉलरों को समझा दो, 2003 वाली गलती ना करेंं, वरना जीतते-जीतते हार जाओगे

आईसीसी क्रिकेट विश्व कप 2019 (ICC world cup 2019) के फ्लैशबैक में जाएंगे तो साल 2003 की यादें ताजा हो जाएंगी. भारतीय टीम ने पूरे टूर्नामेंट में लगभग हर मैच में संयमित तरीके से गेंदबाजी नहीं की, जिसके चलते विरोधी टीम को एक्स्ट्रा रन मिलते रहे. पूरे टूर्नामेंट में भारतीय टीम केवल दो मैच हारी वह भी ऑस्ट्रेलिया से.

विराट बाबू, बॉलरों को समझा दो, 2003 वाली गलती ना करेंं, वरना जीतते-जीतते हार जाओगे
विराट कोहली की अगुवाई में भारतीय टीम विश्व कप में हिस्सा लेने पहुंची है.

नई दिल्ली: आईसीसी क्रिकेट विश्व कप 2019 (ICC world cup 2019) के फ्लैशबैक में जाएंगे तो साल 2003 की यादें ताजा हो जाएंगी. इस साल भारतीय क्रिकेट टीम को चैंपियन बनने का मौका मिला था, लेकिन ऐसा हो नहीं सका. सौरव गांगुली की अगुवाई में भारतीय टीम पूरे टूर्नामेंट में शानदार खेल खेली थी, लेकिन फाइनल में ऑस्ट्रेलिया के सामने बेहद बड़ी हार का सामना करना पड़ा था. 

इस हार के बाद भारतीय टीम की गलतियों की सूची तैयार हुई थी, जिसमें एक बार सामने आई थी कि भारतीय बॉलरों ने पूरे टूर्नामेंट में एक गलती बार-बार की थी. भारतीय टीम ने पूरे टूर्नामेंट में लगभग हर मैच में संयमित तरीके से गेंदबाजी नहीं की, जिसके चलते विरोधी टीम को एक्स्ट्रा रन मिलते रहे. पूरे टूर्नामेंट में भारतीय टीम केवल दो मैच हारी वह भी ऑस्ट्रेलिया से. बाकी के मैचों में भारत ने भले ही जीत दर्ज की लेकिन बॉलर एक्सट्रा रन देने वाली गलतियां करते रहे.

ये है भारतीय बॉलरों की गलतियों का लेखा-जोखा
- पाकिस्तान के खिलाफ मैच में भारत ने 28 एक्स्ट्रा रन दिए, जिसमें 19 वाइड बॉल थे.

- श्रीलंका के खिलाफ मैच में भारतीय बॉलरों ने 23 एक्स्ट्रा रन खर्च किए.

- ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ फाइनल मुकाबले में भारतीय बॉलरों ने 21 एक्स्ट्रा रन दिए. इस मैच में भारत के दोनों स्ट्राइकर बॉलरों ने सबसे ज्यादा अतिरिक्त रन खर्च किए. जहीर खान ने 2 नो बॉल और 6 वाइड गेंदें फेंकी. वहीं जवागल श्रीनाथ ने 3 नो बॉल और 2 वाइड फेंकी. जहीर खान ने पहले ही ओवर में काफी दिशाहीन गेंदें फेंकी जिसके चलते ऑस्ट्रेलिया के ओपनर एडम गिलक्रिस्ट और मैथ्यू हेडन के जोड़ी पूरी तरह भारत पर हावी हो गए. ऑस्ट्रेलिया ने इस फाइनल मैच में 359 रनों का विशाल स्कोर खड़ा किया था और भारत 125 रनों से हारकर ट्रॉफी जीतने का मौका गंवा बैठा.

- जिम्बाब्वे के खिलाफ मैच में भारत ने 17 एक्स्ट्रा रन खर्च किए.

- इंग्लैंड के खिलाफ मैच में आशीष नेहरा ने शानदार बॉलिंग करते हुए छह विकेट झटके थे, लेकिन इस मैच में भी बॉलरों ने 17 एक्स्ट्रा रन विरोधी टीम को दिए थे.

- ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ लीग मैच में भारतीय बॉलरों ने 16 एक्स्ट्रा रन दिए थे. यहां गौर करने वाली बात यह है कि इस मैच में भारत की ओर से केवल 25 ओवर की बॉलिंग हुई थी, जिसके बाद भी इतने सारे एक्स्ट्रा रन दिए गए. भारत यह मैच नौ विकेट से हारा था.

- केन्या के खिलाफ मैच में भारत ने 16 एक्सट्रा रन दिए थे.

- नामिबिया के खिलाफ मैच में भी भारतीय बॉलरों ने 16 रन एक्स्ट्रा दिए थे.

क्रिकेट के जानकार कहते हैं कि मैच में संयमित गेंदबाजी ना करने के एवज में एक्स्ट्रा रन खर्च करना किसी भी टीम के लिए बेहद बुरा होता है. क्रिकेट में एक-एक रन की लड़ाई होती है. ऐसे में विरोधी टीम के स्कोर में रना जोड़ना भारी गलती है. विराट कोहली की अगुवाई में विश्व कप खेलने इंग्लैंड पहुंची भारतीय टीम में यजुवेंद्र चहल, जसप्रीत बुमराह, रविंद्र जडेजा, कुलदीप यादव, मोहम्मद शमी, भुवनेश्वर कुमार और हार्दिक पांड्या मुख्य बॉलर की भूमिका में नजर आएंगे.

लाइव TV देखें- :