close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

VIDEO: 'धोनी की स्टंपिंग करने में जितना टाइम लिया, उतने में वह पिकनिक मनाकर आ जाता'

भारत से मिली हार के बाद वेस्टइंडीज के कप्तान ने कहा है कि महेंद्र सिंह धोनी की स्टम्पिंग का मौका गंवाना भारी पड़ा.

VIDEO: 'धोनी की स्टंपिंग करने में जितना टाइम लिया, उतने में वह पिकनिक मनाकर आ जाता'
शाई होप ने धोनी के काफी दूर होने के बाद भी बच्चों जैसी गलती कर धोनी का आउट करने का मौका गंवा दिया. (फोटो साभार: सोशल मीडिया)

मैनचेस्टर: वेस्टइंडीज टीम के कप्तान जेसन होल्डर (Jason Holder) ने गुरुवार को आईसीसी वर्ल्ड कप (ICC World Cup 2019) में भारत के हाथों मिली 125 रनों से हार के बाद कहा है कि महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) की स्टम्पिंग का मौका गंवाना भारी पड़ा. फाबियान ऐलेन की गेंद पर धोनी ने निकलकर मारने का प्रयास किया था और चूक गए थे, लेकिन विकेटकीपर शाई होप ने धोनी के काफी दूर होने के बाद भी बच्चों जैसी गलती कर धोनी का आउट करने का मौका गंवा दिया.

धोनी जब बचे तब वह काफी धीमी बल्लेबाजी कर रहे थे लेकिन बाद में उन्होंने तेजी से रन बना भारत को 50 ओवरों में सात विकेट के नुकसान पर 268 रनों का सम्मानजनक स्कोर दिलाया. धोनी ने आखिरी ओवर में दो छक्के और एक चौके की मदद से 16 रन बनाए. विंडीज टीम 34.2 ओवरों में 143 रनों पर ढेर हो गई. धोनी ने नाबाद 56 रन बनाए.

इतना मौका मिलने के बाद भी धोनी को आउट न कर पाने की वजह से वेस्टइंडीज टीम को सोशल मीडिया पर फैंस की आलोचनाओं का सामना करना पड़ा. एक ट्विटर यूजर ने चुटकी लेते हुए लिखा कि जितना टाइम विकेटकीपर होप ने धोनी की स्टंपिंग करने में लिया, उतने में तो धोनी पिकनिक मनाकर वापस आ जाता. वहीं, एक और यूजर ने लिखते हैं कि इतने में तो अपना धोनी पूरी टीम को आउट कर देता.

इसके अलावा इस बड़ी गलती को लेकर कई क्रिकेट प्रेमी ट्विटर पर मजेदार मीम्स और ट्वीट लेकर वेस्टइंडीज को कोसने में जुट गए.
 

मैच के बाद होल्डर ने कहा, "हमारे गेंदबाजों ने अच्छी गेंदबाजी की, लेकिन हमारी बल्लेबाजी ने हमें निराश किया. धोनी को स्टम्पिंग करने का मौका हम भुना नहीं पाए. हमने इस टूर्नामेंट में अपने आप को काफी निराश किया है. मैदान पर कुछ मौके गंवाना हमें भारी पड़ा."

होल्डर ने कहा, "हमारी बल्लेबाजी में निरंतरता नहीं रही. हम सिर्फ गेंदबाजों को दोष नहीं दे सकते. हमें सुधार की जरूरत है. युवाओं ने ठीक प्रदर्शन किया. गेंदबाजों ने भी अच्छा किया. हमारी फील्डिंग और बल्लेबाजी में सुधार की जरूरत है."

इस हार के साथ ही विंडीज विश्व कप के सेमीफाइनल की दौड़ से बाहर हो गई है. उसके सात मैचों में सिर्फ तीन अंक हैं. अभी उसे दो और मैच खेलने हैं. इन दोनों में जीत भी उसे अंतिम-4 में नहीं पहुंचा सकती.

(इनपुट-एजेंसी से भी)