close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

VIDEO: मैक्सवेल की इस कैच से क्यों याद आ गए कपिल देव, 36 साल पहले भी हुआ था कुछ ऐसा

अपनी ताबड़तोड़ बल्लेबाजी के दमकर रसेल ने मैच का रुख मोड दिया और वेस्टइंडीज की टीम के स्कोर को 39 ओवर समाप्त होने से पहले 215 पर पहुंचा था. 39वें ओवर में मिचेल स्ट्राक की चौथी बॉल पर लगाए गए करारे शॉट को बाउंड्री पार पहुंचाने के बाद पांचवी गेंद पर रसेल एक बार फिर बड़ा शॉट खेलना चाहा...

VIDEO: मैक्सवेल की इस कैच से क्यों याद आ गए कपिल देव, 36 साल पहले भी हुआ था कुछ ऐसा
मिचेल स्ट्राक की गेंद पर ग्लेन मैक्सवेल ने खतरनाक खेल रहे आंद्रे रसेल की शानदार कैच पकड़ी (फोटो- पीटीआई)

नाटिंघमः आईसीसी क्रिकेट वर्ल्डकप 2019 में गुरुवार को वेस्टइंडीज और ऑस्ट्रेलिया के बीच हुए मुकाबले में कैरिबियाई जीती हुई बाजी हार गई. कंगारु टीम ने कैरिबियाई टीम को 15 रन से हराकर टूर्नामेंट में अपनी लगातार दूसरी जीत दर्ज की. इस मैच के टर्निंग प्वाइंट की बात करें तो यह कहना गलत नहीं होगा कि वेस्टइंडीज के धुरंधर बल्लेबाज आंद्रे रसेल को आउट करते ही कंगारु टीम ने मैच कैरिबियाई टीम से छीन लिया था. पूरी टीम को शायद यह पहले से पता था कि आंद्रे रसेल की वो बल्लेबाज है जो मैच की दिशा बदल सकते है और ऐसा रसेल ने किया भी. 36वें ओवर समाप्त होने के बाद जब वेस्टइंडीज के 5 विकेट के नुकसान पर 190 रन तब रसेल ने मैदान पर कदम रखा. 

अपनी ताबड़तोड़ बल्लेबाजी के दमपर रसेल ने मैच का रुख मोड़ दिया और वेस्टइंडीज की टीम के स्कोर को 39 ओवर समाप्त होने से पहले 215 पर पहुंचा दिया था. 39वें ओवर में मिचेल स्ट्राक की चौथी बॉल पर लगाए गए करारे शॉट को बाउंड्री पार पहुंचाने के बाद पांचवी गेंद पर रसेल ने एक बार फिर बड़ा शॉट खेलना चाहा, लेकिन वह गेंद सही जज नहीं कर सके और बॉल बल्ले के बीच में न आकर हवा में खड़ी हो गई. शॉट इतना ऊंचा था कि प्वाइंट पॉजिशन पर खड़े ग्लेन मैक्सवेल पूरा घूम गए. बॉल सर्कल के बाहर और बाउंड्री से पहले के हिस्से की तरफ हवा में थी...मैक्सवेल भी पूरा घूमकर उल्टी दिशा में दौड़ने लगे.

 

विपरीत दिशा में तेज़ी से दौड़ने के बावजूद भी मैक्सवेल ने अपनी नजरें गेंद से नहीं हटाई. हवा में लहरती गेंद और आंद्रे रसेल जैसे बल्लेबाज का विकेट लेने के मौके पर ऑस्ट्रेलियाई फैन सोच रहा था कि कैच कैसे होगा...लेकिन मैक्सवेल ने अपनी टीम के लिए कैच पकड़कर ना सिर्फ बड़ी कामयाबी दिलाई...बल्कि आज से 36 साल पुराने एक लम्हें को फिर से ताजा कर दिया.

बता दें कि साल 1983 में हुआ क्रिकेट वर्ल्डकप के फाइनल में भारतीय टीम ने वेस्टइंडीज को 60 ओवरों में 184 रनों का लक्ष्य दिया था. लेकिन वेस्टइंडीज की टीम 52 ओवरों में मात्र 140 रनों पर ही सिमट गई. इस मैच का टर्निंग प्वाइंट लोग कपिल देव की उस कैच को मानते हैं जो उन्होंने वैस्टइंडीज के दिग्गज बल्लेबाज विवियन रिचर्ड्स की लपकी थी.  रिचर्ड्स बेहद खतरनाक अंदाज में बैटिंग कर रहे थे. उन्होंने मात्र 28 बॉल पर 33 रन बना लिए थे जिसमें 7 चौके शामिल थे. तेजी से खेल रहे रिचर्ड्स ने मदन लाल की गेंद पर एक और बड़ा शॉट लगाने का प्रयास किया और बॉल सर्कल के बाहर हवा में थी... 

आप भी देखिए इस ऐतिहासिक कैच का वीडियो

इसके बाद अगले ओवर में रसेल ने मिचेल स्ट्राक को भी एक चौका लगाया लेकिन अगली ही गेंद पर छक्का लगाने की कोशिश करते रसेल आउट हो गए. आंद्रे रसेल ने अपनी पारी में 11 बॉल पर 15 रन बनाए जिसमें 1 छक्का और 2 चौके शामिल थे. 

इस रोमांचक मुकाबले में आस्ट्रेलिया ने वेस्टइंडीज को 15 रन से हराकर लगातार दूसरी जीत दर्ज की. आस्ट्रेलिया के 289 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए वेस्टइंडीज की टीम स्टार्क (46 रन पर पांच विकेट) और पैट कमिंस (41 रन पर दो विकेट) की धारदार गेंदबाजी के सामने नौ विकेट पर 273 रन ही बना सकी. वेस्टइंडीज की ओर से शाई होप (68), कप्तान जेसन होल्डर (51) और निकोलस पूरण (40) ने उम्दा पारियां खेली लेकिन टीम को जीत नहीं दिला सके.