close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

विराट के सिग्नल पर बुमराह ने अफगान टीम को किया तबाह, जानें उन्हीं की जुबानी मैच की कहानी

बुमराह ने 10 ओवरों में 39 रन देकर दो विकेट लिए और एक मेडेन ओवर भी फेंका. बुमराह को 'प्लेयर ऑफ द मैच' चुना गया. बुमराह ने कहा, 'जब कप्तान का विश्वास आपमें होता है तो आपको काफी आत्मविश्वास मिलता है. इससे मुझे अपनी सोच साफ रखने में मदद मिलती है. मैं जान पाता हूं कि मुझे किस तरह से अपनी रणनीति को लागू करना है.'

विराट के सिग्नल पर बुमराह ने अफगान टीम को किया तबाह, जानें उन्हीं की जुबानी मैच की कहानी
India vs Afghanistan, ICC Cricket World Cup 2019: जसप्रीत बुमराह की चतुराई वाली बॉलिंग के दम पर टीम इंडिया को जीत मिली. तस्वीर साभार- ट्विटर पेज @cricketworldcup

साउथम्पटन: आईसीसी विश्व कप-2019 में शनिवार को भारत ने अफगानिस्तान को रोमांचक मैच में 11 रनों से हरा दिया. इस जीत में अहम भूमिक निभाने वाले तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह (Jasprit bumrah) ने कहा है कि यह मैच काफी मुश्किल था लेकिन उन्हें अपनी काबिलियत पर भरोसा था. अफगानिस्तान के लिए मोहम्मद नबी ने 52 रनों की अहम पारी खेली और वह मैच भारत की झोली से निकालते दिख रहे थे लेकिन बुमराह ने अंत के ओवरों में अच्छी गेंदबाज कर उन्हें ज्यादा रन नहीं बनाने दिए.

बुमराह ने 49वें ओवर में सिर्फ पांच रन दिए और आखिरी ओवर में अफगानिस्तान के लिए 16 रन छोड़े जिन्हें मोहम्मद शमी ने नहीं बनाने दिया.

बुमराह ने 10 ओवरों में 39 रन देकर दो विकेट लिए और एक मेडेन ओवर भी फेंका. बुमराह को 'प्लेयर ऑफ द मैच' चुना गया. बुमराह ने कहा, 'जब कप्तान का विश्वास आपमें होता है तो आपको काफी आत्मविश्वास मिलता है. इससे मुझे अपनी सोच साफ रखने में मदद मिलती है. मैं जान पाता हूं कि मुझे किस तरह से अपनी रणनीति को लागू करना है.'

उन्होंने कहा, 'हम देख रहे थे कि विकेट समय के साथ और धीमी होती जा रही है इसलिए हम सटीक रहने और स्टम्प टू स्टम्प गेंद करने की कोशिश कर रहे थे. यह बड़ा मैदान है और यहां रिवर्स स्विंग भी मिल रही थी, लेकिन आपको अपनी यॉर्कर पर ज्यादा निर्भर रहना होता है और स्थिति के हिसाब से खेलना होता है. यह मुश्किल मैच था, लेकिन मुझे अपनी काबिलियत पर भरोसा था.'

शमी को लेकर बुमराह ने कहा, 'ऐसे गेंदबाज होने से हमें स्वस्थ प्रतिस्पर्धा मिलती है. हम साथ ही अपनी रणनीति के बारे में चर्चा करते रहते हैं. जब हर कोई विकेट लेकर योगदान दे रहा होता है तो यह टीम के लिए अच्छा होता है.