close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

ICC World Cup: भारत को इंग्लैंड से जीतना है तो बनाना होगा वर्ल्ड रिकॉर्ड

इंग्लैंड ने आईसीसी विश्व कप (ICC World Cup 2019) में भारतीय टीम को 338 रन का लक्ष्य दिया है. 

ICC World Cup: भारत को इंग्लैंड से जीतना है तो बनाना होगा वर्ल्ड रिकॉर्ड
भारतीय टीम जब बैटिंग करने उतरेगी तो उसे अपने कप्तान विराट कोहली और उप कप्तान रोहित शर्मा से बड़ी पारी की उम्मीद रहेगी. (फोटो: Reuters)

नई दिल्ली: भारतीय टीम को आईसीसी विश्व कप (ICC World Cup 2019) में अगर अपना अजेय अभियान जारी रखना है तो उसे वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाना है. इंग्लैंड ने भारतीय टीम (Team India) को रविवार (30 जून) को खेले गए मैच में 338 रन का लक्ष्य दिया है. यह ऐसा लक्ष्य है, जो आईसीसी विश्व कप के 44 साल के इतिहास में आज तक हासिल नहीं किया जा सका है. भारतीय टीम मौजूदा विश्व कप में छह में से पांच मैच जीत चुकी है. उसका एक मैच (विरुद्ध न्यूजीलैंड) बारिश के रद्द हो गया था. 

मेजबान इंग्लैंड (England) ने रविवार को भारत के खिलाफ टॉस जीतकर पहले बैटिंग की. उसकी ओर से ओपनर जॉनी बेयरस्टो (Jonny Bairstow) ने शतक बनाया. उन्होंने 109 गेंदों पर 111 रन की पारी खेली. बेन स्टोक्स ने 79, जेसन रॉय ने 66 और जो रूट ने 44 रन बनाए. जॉस बटलर ने 8 गेंदों पर 20 रन धुन दिए. इंग्लैंड ने इन शानदार पारियों की मदद से 7 विकेट पर 337 रन का स्कोर बनाया. भारत की ओर से सबसे अधिक 5 विकेट मोहम्मद शमी ने लिए. 

यह भी पढ़ें: ऋषभ पंत World Cup में खेलने उतरे, अब दिनेश कार्तिक का इंतजार शायद ही खत्म हो...

भारत को अब 338 रन का लक्ष्य हासिल करना है. अगर भारत इसमें कामयाब रहता है तो वह सबसे बड़े लक्ष्य का पीछा कर जीत दर्ज करने का रिकॉर्ड बना देगा. फिलहाल यह रिकॉर्ड आयरलैंड के नाम है. आयरलैंड ने 2011 के विश्व कप में इंग्लैंड के खिलाफ 329 रन का लक्ष्य का पीछा कर मैच जीता था. इस मैच में केविन ओब्रायन ने 50 गेंद पर शतक बनाया था, जो आज भी विश्व कप का सबसे तेज शतक है. 

 

 

2011 में दोनों टीमों ने बनाए थे 338-338 रन 
भारत और इंग्लैंड के बीच खेले जा रहे इस मैच ने 2011 के वर्ल्ड कप की याद दिला दी है. आठ साल पहले खेले गए वर्ल्ड कप में भारत ने पहले बैटिंग करते हुए 338 रन बनाए थे. इंग्लैंड ने इसके जवाब में 8 विकेट पर 338 रन बनाकर मैच टाई करा लिया था. उस मैच में भारत की ओर से सचिन तेंदुलकर (120) ने शतक बनाया था. इंग्लैंड की ओर से उसके तत्कालीन कप्तान एंड्रयू स्ट्रॉस ने 158 रन की पारी खेली थी.