close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

INDvsSA World Cup 2019: युजवेंद्र चहल ने पहले ही मैच में बनाया रिकॉर्ड, ऐसा करने वाले पहले भारतीय

भारतीय टीम ने वर्ल्ड कप में अपने अभियान की शुरुआत कर दी है. उसने अपने पहले मैच में दक्षिण अफ्रीका को 227/9 के स्कोर पर रोक दिया. 

INDvsSA World Cup 2019: युजवेंद्र चहल ने पहले ही मैच में बनाया रिकॉर्ड, ऐसा करने वाले पहले भारतीय
युजवेंद्र चहल विश्व कप में अपना पहला मैच खेल रहे हैं. (फोटो: PTI)

नई दिल्ली: आईसीसी क्रिकेट वर्ल्ड कप (ICC World Cup) में भारत ने अपने अभियान की शुरुआत बुधवार (5 जून) को की. टूर्नामेंट में उसका पहला मुकाबला दक्षिण अफ्रीका (India vs South Africa) से हो रहा है. दक्षिण अफ्रीका ने इस मैच में टॉस जीतकर पहले बैटिंग की. मैच के दौरान बादल छाए हुए थे. भारतीय गेंदबाजों ने इसका पूरा फायदा उठाते हुए दक्षिण अफ्रीका की टीम को 227/9 के स्कोर पर रोक दिया. दिलचस्प बात यह है कि इस मैच में किसी तेज गेंदबाज नहीं, बल्कि स्पिनर युजवेंद्र चहल (Yuzvendra Chahal) ने सबसे अधिक विकेट झटके. इसके साथ ही उन्होंने एक रिकॉर्ड भी बना दिया.

लेग स्पिनर युजवेंद्र चहल अपना पहला वर्ल्ड कप खेल रहे हैं. उन्होंने इस मैच में 10 ओवर के स्पेल में 51 रन देकर चार विकेट झटके. यह किसी भी भारतीय का वर्ल्ड कप के डेब्यू मैच में दूसरा सबसे बेहतरीन प्रदर्शन है. यह रिकॉर्ड मोहम्मद शमी (Mohammed Shami) के नाम है. शमी ने 2015 के वर्ल्ड कप में अपने पहले ही मैच में पाकिस्तान के खिलाफ चार विकेट झटके थे. लेकिन उन्होंने तब सिर्फ 35 रन खर्च किए थे. इस तरह उनका प्रदर्शन चहल के मुकाबले बेहतर था. 

यह भी पढ़ें: World Cup 2019: रोहित शर्मा का 23वां शतक, गांगुली-दिलशान पीछे छूटे, अब ये दिग्गज निशाने पर   

युजवेंद्र चहल ने इस मैच में एक और रिकॉर्ड बनाया है. वे ऐसे पहले भारतीय बन गए हैं, जिन्होंने वर्ल्ड कप में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ चार विकेट झटके हैं. उन्होंने इस मैच में फाफ डू प्लेसिस, वान डर डुसेन को बोल्ड किया. डेविड मिलर को अपनी ही गेंद पर लपका और फेहलुकवायो को स्टंप करवाया. 

yuzvendra chahl

 

भारत और दक्षिण अफ्रीका वर्ल्ड कप में पांचवीं बार मैच खेल रहे हैं. इससे पहले खेले गए चार मुकाबलों में कोई भी भारतीय गेंदबाज चार विकेट नहीं ले सका था. इससे पहले वर्ल्ड कप में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ सबसे अच्छे प्रदर्शन का भारतीय रिकॉर्ड हरभजन सिंह और रविचंद्रन अश्विन के नाम था. हरभजन सिंह ने 2011 और अश्विन ने 2015 के वर्ल्ड कप में तीन-तीन विकेट झटके थे. 

विश्व कप में आज तक एक भी भारतीय तेज गेंदबाज दक्षिण अफ्रीका के तीन विकेट नहीं ले सका है. मोहम्मद शमी और मोहित शर्मा ने 2015 के वर्ल्ड कप में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ दो-दो विकेट लिए थे. साल 2011 के वर्ल्ड कप में मुनाफ पटेल भी अफ्रीकी टीम के खिलाफ दो विकेट ले चुके हैं. साल 1999 के वर्ल्ड कप में जवागल श्रीनाथ ने दक्षिण अफ्रीकी के दो बल्लेबाजों को आउट किया था.