close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

जैक कैलिस ने कहा, 'साउथ अफ्रीका को इंग्लैंड से लेना चाहिए सबक'

कैलिस ने कहा कि दक्षिण अफ्रीका को इंग्लैंड से सबक लेना चाहिए जो 2015 विश्व कप के पहले दौर से बाहर हो गया था लेकिन इयोन मोर्गन की टीम इसके बाद एकदिवसीय रैंकिंग में शीर्ष पर पहुंची और इस साल खिताब जीतने के प्रबल दावेदारों में शामिल है.

जैक कैलिस ने कहा, 'साउथ अफ्रीका को इंग्लैंड से लेना चाहिए सबक'
फाइल फोटो

लंदनः दक्षिण अफ्रीका के पूर्व दिग्गज क्रिकेटर जाक कैलिस ने दक्षिण अफ्रीका के विश्व कप में लचर प्रदर्शन करके जल्दी बाहर होने के कह है कि टीम एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में इंग्लैंड के प्रदर्शन से सबक ले जिसने इस प्रारूप में काफी सुधार किया है. पाकिस्तान के खिलाफ रविवार को लार्ड्स में पाकिस्तान की 49 रन की हार के साथ सुनिश्चित हो गया कि दक्षिण अफ्रीका 10 टीमों के राउंड रोबिन चरण से सेमीफाइनल के लिए क्वालीफाई नहीं कर पाएगा. टीम को हालांकि अब भी दो मैच और खेलने हैं.

पाकिस्तान के सात विकेट पर 308 रन के जवाब में दक्षिण अफ्रीका की टीम नौ विकेट पर 259 रन ही बना सकी. अपने समय के दिग्गज आलराउंडर कैलिस ने कहा कि दक्षिण अफ्रीका को इंग्लैंड से सबक लेना चाहिए जो 2015 विश्व कप के पहले दौर से बाहर हो गया था लेकिन इयोन मोर्गन की टीम इसके बाद एकदिवसीय रैंकिंग में शीर्ष पर पहुंची और इस साल खिताब जीतने के प्रबल दावेदारों में शामिल है.

कैलिस ने आईसीसी के कालम में लिखा, ‘‘इंग्लैंड ने 2015 के प्रदर्शन की निराशा का इस्तेमाल अपनी टीम के पुनर्गठन के लिए किया और एकदिवसीय क्रिकेट के प्रति अपने मानसिकता और रवैये को बदला.’’  उन्होंने कहा, ‘‘इंग्लैंड अब बिना डरे क्रिकेट खेलता है और गलतियां करने से नहीं डरता. मुझे लगता है कि इस टूर्नामेंट में दक्षिण अफ्रीका ने चीजों को काफी रक्षात्मक तरीके से लिया और उन्हें प्रत्येक मैच में और अधिक सकारात्मकता के साथ खेलना होगा.’’ 

कैलिस ने कहा कि रवैये में बदलाव का मतलब यह नहीं है कि दक्षिण अफ्रीका को नई टीम के साथ शून्य से शुरुआत करनी होगी.