close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

धोनी के सेना के साथ समय बिताने का फैसला: गंभीर- कपिल ने ऐसे की तारीफ

धोनी के सेना के साथ समय बिताने के फैसले पर कपिल, गंभीर ने तारीफ कर कहा है कि इससे युवा प्ररित होंगे. 

धोनी के सेना के साथ समय बिताने का फैसला: गंभीर- कपिल ने ऐसे की तारीफ
गंभीर और कपिल ने धोनी की इस कदम को एतिहासिक और युवाओं के लिए प्रेरक बताया है. (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: टीम इंडिया (Team India) के विश्व कप में सेमीफाइनल की हार के बाद भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) ने उम्मीद के खिलाफ संन्यास की घोषणा नहीं की. इसके साथ ही खुद को विंडीज दौरे के लिए अनुपलब्ध भी बता दिया. बाद में साफ हुआ की धोनी दो महीने सेना के साथ बिताना चाहते हैं. उन्हें सेनी की मंजूरी मिल भी गई. धोनी के सेना के साथ समय बिताने के फैसले की विश्व विजेता कप्तान कपिल देव और पूर्व क्रिकेटर गौतम गंभीर ने तारीफ की है  उन्होंने कहा है कि धोनी का यह फैसला देश के कई युवाओं को प्रेरित करेगा. 

पहले गंभीर को था शक
पूर्व क्रिकेटर और अब भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के सांसद गौतम गंभीर को शायद धोनी से यह उम्मीद नहीं थी कि धोनी सेना को लेकर इतने गंभीर होंगे. पहले कई बार यह कह चुके हैं कि धोनी को सेना की वर्दी तभी पहननी चाहिए जब वह सेना के लिए कुछ करें, लेकिन अब गंभीर ने धोनी के सेना के साथ समय बिताने के कदम को ऐतिहासिक बताया है. 

VIDEO: युवराज सिंह की रिटायरमेंट के बाद की पहली पारी, आउट न होकर भी लौट गए पवेलियन

क्या कहा गंभीर ने फिर
गंभीर ने एक समाचार चैनल पर करगिल युद्ध के 20 साल पूरे होने पर आयोजित किए गए शिखर सम्मेलन के दौरान कहा, "धोनी का यह कदम कमाल का है. मैंने पहले कई बार कहा है कि धोनी को सेना की वर्दी तभी पहननी चाहिए जब वो सेना के लिए कुछ करें और अब धोनी ने सेना के साथ समय बिताने का फैसला किया है. इससे पता चलता है कि वह सेना के प्रति कितने समर्पित और गंभीर हैं. धोनी का यह कदम देश के कई युवाओं के लिए प्रेरणा का काम करेगा और युवा सेना में शामिल होने के लिए प्रेरित होंगे."

MS Dhoni in Army

मिला कपिल पाजी का साथ
गंभीर की बात को भारत को पहला विश्व कप दिलाने वाले कप्तान कपिल देव का समर्थन मिला. कपिल ने कहा, "धोनी ने जो किया है, वो बड़ा फैसला है. इससे देश का युवा प्रेरित होगा. मुझे लगता है कि देश के युवाओं को कुछ समय सेना में जरूर बिताना चाहिए, जिससे देश का भला हो सके और युवाओं को नई सीख मिल सके."

विश्व कप के बाद धोनी ने भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) को बता दिया था कि वह सेना के साथ समय बिताने के लिए क्रिकेट से दो महीने का ब्रेक लेंगे. अब यह पहली बार होगा कि किसी दौरे पर विराट कोहली तीनों प्रारूप की सरीज में कप्तानी धोनी के बिना करेंगे. टीम इंडिया का विंडीज दौरा 3 अगस्त से हो रहा है.