close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

ICC World Cup: 36 साल पहले आज ही के दिन लगा था भारतीय वनडे क्रिकेट का पहला शतक

भारत ने पहला वनडे मैच 1974 में खेला. लेकिन किसी भारतीय को वनडे शतक लगाने के लिए 1983 तक इंतजार करना पड़ा.

ICC World Cup: 36 साल पहले आज ही के दिन लगा था भारतीय वनडे क्रिकेट का पहला शतक
भारत ने 1983 का विश्व कप कपिल देव की कप्तानी में ही जीता था.

नई दिल्ली: 18 जून. यह वही ऐतिहासिक तारीख है, जिसने भारतीय क्रिकेट की दिशा बदल दी. 36 साल पहले आज ही के दिन कपिल देव (Kapil Dev) ने 175 रन की बेशकीमती पारी खेली थी. वह आईसीसी क्रिकेट विश्व कप (Cricket World Cup) का ही मुकाबला था. इत्तफाक से आज में भी इंग्लैंड में ही विश्व कप खेला जा रहा है. आज जब सबकुछ क्रिकेटमय है, तो क्यों ना हम उस पारी को याद करें, जिसे भारतीय क्रिकेट का टर्निंग प्वाइंट माना जाता है. दुर्भाग्य से हममें से 99% भारतीयों ने वह पारी ना तो देखी है और ना ही कभी देख पाएंगे.

कपिल देव ने 1983 के विश्व कप में जिम्बाब्वे के खिलाफ यह लगाया था. यह वनडे क्रिकेट में किसी भारतीय का पहला शतक था. इतना ही नहीं, यह उस वक्त वनडे क्रिकेट में दुनिया के किसी भी बल्लेबाज की सबसे बड़ी पारी भी थी. कपिल देव ने यह शतक तब लगाया, जब टीम पर हार का खतरा मंडरा रहा था. उनकी 175 रन की नाबाद पारी की बदौलत ही भारत मैच जीतने में कामयाब रहा. जीत की लय कायम रखते हुए भारत ना सिर्फ फाइनल में पहुंचा, बल्कि चैंपियन भी बना. 

यह भी पढ़ें: World Cup 2019: टीम इंडिया की नजरें इस पोजीशन पर, ताकि फाइनल का रास्ता हो जाए आसान

कपिल देव जिस दिन (18 जून) यह पारी खेल रहे थे, उसी दिन वर्ल्ड कप का लाइव प्रसारण कर रही कंपनी के कर्मचारियों की हड़ताल थी. इस कारण ना तो मैच का लाइव प्रसारण हुआ और ना ही यह रिकॉर्ड हुआ. जाहिर है, कपिल देव की यह ऐतिहासिक पारी सिर्फ वही लोग देख पाए, जो उस वक्त स्टेडियम में मौजूद थे. 

जिम्बाब्वे के खिलाफ इस मैच में कपिल देव जब बैटिंग करने आए तो भारत 9 रन पर चौथा विकेट गंवा चुका था. अभी स्कोरबोर्ड पर 8 रन ही जुड़े थे कि पांचवां विकेट भी गिर गया. स्कोर 5 विकेट पर 17 रन हो गया. कपिल देव ने इसके बाद 138 गेंदों पर 175 रन की नाबाद पारी खेली. उन्होंने रोजर बिन्नी के साथ 60, मदन लाल के साथ 62 और सैयद किरमानी के साथ 126 रन की साझेदारी की. भारत ने मैच में 8 विकेट पर 266 रन बनाए और 31 रन से मैच जीता.