close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

वर्ल्ड कप से बाहर होते ही इस टीम के कप्तान पर गिरी गाज, दूसरे खिलाड़ी को सौंपी कमान

आईसीसी वर्ल्ड कप (World Cup 2019) से टीम के बाहर होने के बाद क्रिकेट बोर्ड ने यह बड़ा बदलाव किया है.

वर्ल्ड कप से बाहर होते ही इस टीम के कप्तान पर गिरी गाज, दूसरे खिलाड़ी को सौंपी कमान
असगर अफगान को टीम का उप-कप्तान नियुक्त किया गया है. (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: अफगानिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने राशिद खान (Rashid Khan) को तीनों फॉर्मेट (टेस्ट, वनडे और टी20) में टीम अफगानिस्तान का नया कप्तान नियुक्त किया गया जबकि असगर अफगान को उप-कप्तान नियुक्त किया गया. आईसीसी वर्ल्ड कप (World Cup 2019) से टीम के बाहर होने के बाद अफगानिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने यह बड़ा बदलाव किया है.

वर्ल्ड कप टूर्नामेंट में लगातार 9 मैचों में हार का सामना करने के बाद अफगानिस्तान टीम में साजिश की बातें सामने आने लगी थीं. इनमें ऑलराउंडर राशिद का कप्तान गुलबदीन के साथ कड़वे रिश्ते भी शामिल हैं. इससे इस स्पिनर के प्रदर्शन पर भी असर पड़ा है और उन्होंने विश्व कप में अब तक का सबसे खराब प्रदर्शन किया.

रिश्ते अच्छे नहीं हैं?
राशिद ने यह बयान तब दिया जब उनसे पूछा गया कि क्या कप्तान गुलबदीन नायब के साथ उनके रिश्ते अच्छे नहीं हैं? क्योंकि उन्होंने कप्तानी में बदलाव पर नाराजगी जताई थी. राशिद और अफगानिस्तान के एक अन्य सुपरस्टार मोहम्मद नबी ने विश्व कप के लिये अशगर अफगान की जगह गुलबदीन को कप्तान बनाये जाने पर आपत्ति जताई थी जो कि देश के क्रिकेट बोर्ड को अच्छा नहीं लगा था.

मेरा 100 प्रतिशत सहयोग
राशिद ने वर्ल्डकप के दौरान कहा था, ‘‘गुलबदीन के साथ मेरे रिश्ते खराब नहीं हैं. मैं उसे भी उतना ही सहयोग देता हूं जैसे अशगर के कप्तान रहते हुए उसे देता था. अगर मैं अशगर को मैदान पर 50 प्रतिशत सहयोग देता था तो गुलबदीन के साथ मेरा 100 प्रतिशत सहयोग है. ’’

‘मैं न तो गुलबदीन के लिये खेलता हूं...'
जब राशिद से कप्तानी में बदलाव के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा, ‘‘मैं न तो गुलबदीन के लिये खेलता हूं और ना ही क्रिकेट बोर्ड (एसीबी) के लिये, मैं अपने ध्वज, अफगानिस्तान के लिये खेलता हूं. मैं अपनी भूमिका जानता हूं और मैं अपना काम आगे भी करता रहूंगा.’’  उन्होंने कहा, ‘‘मेरा और नबी का ट्वीट अशगर के समर्थन में नहीं था. हमने अफगानिस्तान क्रिकेट की बेहतरी के लिये आवाज उठाई थी.’’