close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

'मेरी टीम में 'बहुत सारे जेंटलमैन' थे, इस कारण स्‍लेजिंग नहीं कर पाते थे': गांगुली

गांगुली ने कहा, "टीम के साथ बहुत कठिनाई थी क्योंकि उसमें बहुत सारे जेंटलमैन थे. अगर आप राहुल द्रविड़ से इसके लिए कहते तो वो वापस आकर कहते, नहीं-नहीं यह खेलने का सही तरीका नहीं है."

'मेरी टीम में 'बहुत सारे जेंटलमैन' थे, इस कारण स्‍लेजिंग नहीं कर पाते थे': गांगुली

मैनचेस्टर: भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान सौरभ गांगुली ने कहा कि उनकी टीम में 'बहुत सारे जेंटलमैन' थे जिसके कारण उनकी टीम मजबूत विपक्षी टीमों के खिलाफ स्लेजिंग नहीं कर पाती थी. भारत और न्यूजीलैंड के बीच मंगलवार को यहां सेमीफाइनल मैच के दौरान बारिश से पड़ी बाधा के दौरान गांगुली ने कहा, "टीम के साथ बहुत कठिनाई थी क्योंकि उसमें बहुत सारे जेंटलमैन थे. अगर आप राहुल द्रविड़ से इसके लिए कहते तो वो वापस आकर कहते, नहीं-नहीं यह खेलने का सही तरीका नहीं है."

गांगुली ने कहा, "आप वी.वी.एस लक्ष्मण को स्लेज करने के लिए कहते तो वो कहते कि मैं बल्लेबाजी पर ध्यान दे रहा हूं. सचिन को कहा जाता तो वह मिड-ऑन पर खड़े होकर मिड-विकेट के फील्डर की तरफ इशारा करके उसे स्टीव वॉ को स्लेज करने के लिए कहते, लेकिन खुद ऐसा नहीं करते." इस दौरान गांगुली के साथ मौजूद लक्ष्मण उनकी बात पर ठहाका लगा रहे थे.

सचिन ने 'दादा' को बर्थ डे विश करते हुए लिखा दादी, सोशल मीडिया पर लोग हुए परेशान

उन्होंने कहा कि केवल हरभजन सिंह ही थे जो उनके निर्देश मानते थे. गांगुली ने कहा, "टीम में कई सारे मुद्दे थे. केवल सौरव गांगुली और हरभजन सिंह ने ही भारतीय झंडे को उठा रखा था. सरदारजी ने वो सब किया जो मैंने उनसे करने के लिए कहा." गांगुली 2000 से 2005 तक भारतीय टीम के कप्तान रहे. इस दौरान भारत ने अपने घर पर ऑस्‍ट्रेलिया के खिलाफ सीरीज जीती और आस्ट्रेलिया में एक सीरीज ड्रॉ भी कराई.

(इनपुट: एजेंसी आईएएनएस)