close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

World cup: खराब पिचों को लेकर इस टीम ने जताई ICC से नाराजगी, कहा - सौतेला व्यवहार हो रहा है

पाकिस्तान के बाद एक और टीम ने आईसीसी से नाराजगी जताते हुए सौतेले व्यवहार की शिकायत की है. 

World cup: खराब पिचों को लेकर इस टीम ने जताई ICC से नाराजगी, कहा - सौतेला व्यवहार हो रहा है
पाक कप्तान सरफराज अहमद ने टीम इंडिया के मनमाफिक पिच बनाए जाने के आरोप लगाए थे.

लंदन: पाकिस्तान के बाद एक और टीम ने आईसीसी से नाराजगी जताते हुए सौतेले व्यवहार की शिकायत की है. यह टीम कोई और नहीं है श्रीलंका की टीम है जिसने खराब पिचों, अपर्याप्त प्रशिक्षण और परिवहन सुविधाओं, रहने के लिये खराब इंतजाम पर असंतोष जताया है. 

इससे पहले, पाक कप्तान सरफराज अहमद ने टीम इंडिया के मनमाफिक पिच बनाए जाने के आरोप लगाए थे. पाकिस्तान के कप्तान कहा कि पाकिस्तान को हरी पिच ही दी जाती है. सरफराज ने आरोप लगाया कि भारत को वर्ल्ड कप 2019 में अच्छी पिच मिल रही हैं, जो बल्लेबाजों और स्पिनर गेंदबाजों के लिए मददगार होती हैं.

श्रीलंका टीम के मैनेजर असांथा डि मेल ने आईसीसी को पत्र लिखकर कहा है कि श्रीलंका को कार्डिफ में दो हरी भरी पिचों पर खेलना पड़ा जहां वे न्यूजीलैंड से हारे और अफगानिस्तान को हराया. डि मेल ने कहा कि ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ शनिवार को भी उनका हरी भरी पिच इंतजार कर रही है. यह उचित नहीं है कि आईसीसी कुछ टीम के हिसाब से पिच तैयार करवा रही है." 

उन्होंने कहा, "यह विश्व कप है जिसमें शीर्ष 10 टीमें भाग ले रही हैं. मेरा मानना है कि सभी के साथ समान व्यवहार होना चाहिये. हमें चारों मैचों में हरी भरी पिच मिली जबकि दूसरी टीमों को अच्छी पिचें मिली है." उन्होंने यह भी कहा कि उनकी टीम को कम सीटों वाली बस मिली जबकि पाकिस्तान को डबल डेकर बस दी गई है. इसके अलावा होटल में भी स्वीमिंग पूल नहीं है.  

ब्रिस्टल में श्रीलंका के हाल के दो मैच बारिश के कारण रद्द हो गए. कार्डिफ में दो मैच खेले लेकिन न्यूजीलैंड से हारे और अफगानिस्तान को हराया. डि मेल ने कहा, "कार्डिफ में अभ्यास करने की सुविधाएं भी असंतोषजनक थीं. तीन नेट्स के बजाय उन्होंने हमें केवल दो नेट्स दिए. इसके अलावा, ब्रिस्टल में हम जिस होटल में ठहरे थे, उसमें स्वीमिंग पूल भी नहीं था, जो कि हर टीम के लिए जरूरी है. खासतौर पर तेज गेंदबाजों को ताकि वे पूरी तरह से आराम कर सकें.'