INDvsSA : रबाडा के 'अपरिपक्व' वाले कटाक्ष पर बोले कोहली, 'वह वर्ल्ड क्लास बॉलर है लेकिन...'

दक्षिण अफ्रीका टीम के तेज गेंदबाज कैगिसो रबाडा ने तीन दिन पहले विराट कोहली को 'अपरिपक्व' करार दिया था. कोहली ने इसका जवाब दिया है.  

INDvsSA : रबाडा के 'अपरिपक्व' वाले कटाक्ष पर बोले कोहली, 'वह वर्ल्ड क्लास बॉलर है लेकिन...'
रबाडा और कोहली के बीच आईपीएल में दिल्ली कैपिटल्स और रायल चैलेंजर्स बेंगलोर के बीच मैच के दौरान बहस हो गई थी.

नई दिल्ली: दक्षिण अफ्रीका टीम के तेज गेंदबाज कैगिसो रबाडा ने तीन दिन पहले टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली (Virat kohli) को 'अपरिपक्व' करार देते हुए कहा था कि वह छींटाकशी सहन नहीं कर सकते. मैच की पूर्व संध्या पर कोहली से पत्रकारों से इस मुद्दे पर पर प्रतिक्रिया लेनी चाही. विराट ने हैरान करने वाला बयान दिया.  

कोहली ने कहा कि मैं प्रेस कॉन्फ्रेंस में इस सवाल का जवाब देने की जरूरत नहीं समझता. जोर देने पर कोहली ने कहा, "मैंने रबाडा के खिलाफ कई मैच खेले हैं और मुझे लगता है कि हम मिलबैठकर किसी भी मुद्दे पर बात कर सकते हैं. मुझे उसने जो कहा है, उस पर प्रेस कॉन्फ्रेंस में उत्तर देने की जरूरत नहीं है. रबाडा विश्वस्तरीय गेंदबाज हैं. वह अपने दिन में किसी भी बल्लेबाजी को ध्वस्त कर सकता है.' 

भारतीय कप्तान ने कहा, "वह स्टेन या लुनगी एंगिडी के साथ खेले या ना खेले, यह मायने नहीं रखता. वह हमेशा खतरा है. हमें उसका सम्मान करना चाहिए और उसकी काट निकालने के बारे में सोचना चाहिए." 

रबाडा ने कोहली के बारे में यह कहा था 
रबाडा और कोहली के बीच आईपीएल में दिल्ली कैपिटल्स और रायल चैलेंजर्स बेंगलोर के बीच मैच के दौरान बहस हो गई थी. कोहली आरसीबी के कप्तान हैं जबकि रबाडा दिल्ली की तरफ से खेलते हैं. कोहली के साथ आईपीएल मैच के दौरान बहस के बारे में पूछे जाने पर रबाडा ने कहा, ‘‘मैं केवल खेल के लिये अपनी रणनीति के बारे में सोच रहा था लेकिन विराट ने मुझ पर चौका लगाया और फिर कुछ बातें कहीं और जब उसे जवाब दो तो वे गुस्सा हो जाते हैं.’’ रबाडा ने कहा, ‘‘मुझे वे समझ में नहीं आते. हो सकता है कि इससे उसे कुछ फायदा होता हो लेकिन मेरे लिए यह बेहद अपरिपक्व है. वे बेहतरीन खिलाड़ी हैं लेकिन वे छींटाकशी सहन नहीं कर सकते.’’ 
 
रबाडा ने विराट के बारे में उनके प्रति नजरिए के बारे में भी कहा. उन्होंने कहा कि कोहली मैदान पर हमेशा गुस्से में दिखते हैं. रबाडा ने कहा, ‘‘लेकिन उस शाम को बस से होटल लौटते समय मैंने खुद से कहा, ‘यह इंसान (कोहली) मैदान पर हमेशा गुस्से में लगते हैं. क्या वे वास्तव में गुस्से में होते हैं. फिर मैंने सोचा कि अगर वे गुस्से में होगें तो मेरा क्या बिगाड़ लेंगे.’’