World Cup 2019: ऑस्ट्रेलिया का दांव बल्लेबाजी से ज्यादा गेंदबाजी पर, खिताब बचाने उतरेगी यह टीम

ऑस्ट्रेलिया ने 15 सदस्यीय टीम में सिर्फ 6 स्पेशलिस्ट बल्लेबाज हैं. एक विकेटकीपर और एक ऑलराउंडर हैं. बाकी 7 स्पेशलिस्ट गेंदबाज हैं. 

World Cup 2019: ऑस्ट्रेलिया का दांव बल्लेबाजी से ज्यादा गेंदबाजी पर, खिताब बचाने उतरेगी यह टीम
पैट कमिंस ऑस्ट्रेलियाई पेस अटैक का मुख्य हथियार होंगे. (फोटो: PTI)

मेलबर्न: पांच बार के विश्व चैंपियन ऑस्ट्रेलिया ने सोमवार (15 अप्रैल) को आगामी वर्ल्ड कप के लिए अपनी टीम का ऐलान कर दिया. उसकी 15 सदस्यीय टीम की दो खासियत हैं. पहली, करीब एक साल से प्रतिबंधित चल रहे डेविड वार्नर और स्टीवन स्मिथ की टीम में वापसी हो गई है. दूसरी, इस टीम को देखकर यह सहज अंदाजा लगाया जा सकता है कि उसकी रणनीति गेंदबाजों पर फोकस है. विश्व कप इंग्लैंड में 30 मई से होना है. 

ऑस्ट्रेलिया ने अपनी टीम की कप्तानी एरॉन फिंच को सौंपी है. उन्हें भारत और पाकिस्तान को उनके घरेलू मैदान पर हराने का इनाम मिला है. इससे पहले उनकी कप्तानी पर सवाल उठाए जा रहे थे. यह भी माना जा रहा था कि संभव है कि ऑस्ट्रेलिया स्टीव स्मिथ को ही फिर से कप्तानी सौंप दे. लेकिन ऑस्ट्रेलिया की टीम फिंच की कप्तानी में फरवरी और मार्च में भारत और पाकिस्तान को हराने में कामयाब रही और इससे कंगारू चयनकर्ताओं का काम आसान हो गया. 

यह भी पढ़ें: ‏World Cup 2019: विजय शंकर ने रायडू से ऐसे छीनी जगह, रवींद्र जडेजा ने यूं जमाया कब्जा

ऑस्ट्रेलिया की वर्ल्ड कप टीम में सिर्फ छह स्पेशलिस्ट बल्लेबाज हैं. इनमें एरॉन फिंच, डेविड वार्नर, स्टीव स्मिथ, उस्मान ख्वाजा, शॉन मार्श और ग्लेन मैक्सवेल शामिल हैं. कई विशेषज्ञ मैक्सवेल को ऑलराउंडर की श्रेणी में रखते हैं. यानी, अगर हम उन्हें ऑलराउंडर मानें तो टीम में सिर्फ पांच स्पेशलिस्ट बल्लेबाज बचेंगे. 

इसी तरह इस टीम में सात स्पेशलिस्ट गेंदबाज हैं. इनमें जेसन बेहरनडॉर्फ, नाथन कूल्टर-नाइल, पैट कमिंस, नाथन लायन, झाए रिचर्डसन, मिचेल स्टार्क और एडम जम्पा शामिल हैं. ऑलराउंडर मार्कस स्टोइनिस और ग्लेन मैक्सवेल भी गेंदबाजी कर सकते हैं. यानी टीम में कुल नौ ऐसे खिलाड़ी हैं, जो या तो स्पेशलिस्ट गेंदबाज हैं या नियमित गेंदबाजी करने में सक्षम हैं. 

इसके अलावा टीम में एक विकेटकीपर एलेक्स कैरी हैं. उनके बैकअप के तौर पर किसी और विकेटकीपर को शामिल नहीं किया गया है. पीटर हैंड्सकॉम्ब ने स्पेशलिस्ट बल्लेबाज होते हुए भी भारत के दौर पर विकेटकीपिंग की थी. तब माना जा रहा था कि वे दूसरे विकेटकीपर बल्लेबाज के तौर पर दावेदारी पेश कर रहे थे. लेकिन चयनकर्ताओं ने उनकी दावेदारी को गंभीरता से नहीं लिया. 

यह भी पढ़ें: World Cup 2019: 16 जून को भारत VS पाकिस्तान, जानिए टीम इंडिया के मैचों का पूरा शेड्यूल

वर्ल्ड कप के समय 14 सदस्यीय ऑस्ट्रेलिया-ए टीम इंग्लैंड में काउंटी टीमों के खिलाफ मुकाबले खेलेगी. अगर विश्व कप में कोई खिलाड़ी चोटिल होता है तो ऑस्ट्रेलिया-ए टीम में से किसी को सब्स्टीट्यूट के तौर पर चुना जाएगा. मुख्य चयनकर्ता ट्रेवर होंस ने कहा, ‘बेहतरीन खिलाड़ियों की मौजूदगी और प्रत्येक स्थान के लिए हुई प्रतिस्पर्धा के कारण 15 सदस्यीय टीम चुनना थोड़ा मुश्किल रहा. दुर्भाग्यवश, हाल ही में भारत और यूएई का दौरा करने वाले टीम में शामिल पीटर हैंड्सकॉम्ब, एश्टन टर्नर और केन रिचर्डसन को विश्व कप में जगह नहीं मिली है. उनके स्थान पर स्मिथ, वार्नर और स्टार्क को टीम में शामिल किया गया है. बाहर किए गए तीनों खिलाड़ी इंग्लैंड दौरे के लिए आस्ट्रेलिया-एकी टीम का हिस्सा होंगे.’

टीम (संयोजन): 
स्पेशलिस्ट बल्लेबाज:
एरॉन फिंच (कप्तान), डेविड वार्नर, स्टीव स्मिथ, उस्मान ख्वाजा, शॉन मार्श, ग्लेन मैक्सवेल.
स्पेशलिस्ट गेंदबाज: जेसन बेहरनडॉर्फ, नाथन कूल्टर-नाइल, पैट कमिंस, नाथन लायन, झाए रिचर्डसन, मिचेल स्टार्क और एडम जम्पा.
ऑलराउंडर: मार्कस स्टोइनिस. 
विकेटकीपर: एलेक्स कैरी.