close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

World Cup Final: इंग्लैंड ही बनेगा चैंपियन! पिछले 2 वर्ल्ड कप के रिजल्ट दे रहे गवाही...

इंग्लैंड और न्यूजीलैंड के आईसीसी विश्व कप के फाइनल में पहुंचने के साथ ही यह तय हो गया है कि इस बार क्रिकेट को नया वर्ल्ड चैंपियन मिलेगा. 

World Cup Final: इंग्लैंड ही बनेगा चैंपियन! पिछले 2 वर्ल्ड कप के रिजल्ट दे रहे गवाही...
मेजबान इंग्लैंड ने सेमीफाइनल में पांच बार के चैंपियन ऑस्ट्रेलिया को हराया है. (फोटो: ANI)

नई दिल्ली: मेजबान इंग्लैंड और न्यूजीलैंड के आईसीसी विश्व कप (ICC World Cup 2019) के फाइनल में पहुंचने के साथ ही यह तय हो गया है कि इस बार क्रिकेट को नया वर्ल्ड चैंपियन मिलेगा. इंग्लैंड और न्यूजीलैंड (England vs New Zealand) दोनों ने ही आज तक विश्व कप नहीं जीता है. जो भी टीम जीतेगी, वह पहली बार चैंपियन बनेगी. दोनों टीमों के बीच रविवार (14 जुलाई) को लॉर्ड्स में फाइनल खेला जाएगा. क्रिकेट के दिग्गजों से लेकर प्रशंसकों तक यह कयास लगा रहे हैं कि कौन सी टीम चैंपियन बनेगी. हालांकि, इसका पता रविवार को ही चल पाएगा. 

अगर हम इंग्लैंड और न्यूजीलैंड के विश्व कप के अब तक के सफर, रिकॉर्ड, फॉर्म के आधार पर चर्चा करें, इसमें मेजबान टीम का पलड़ा भारी दिखता है. इंग्लैंड (England) ने पिछले तीन मैच में भारत, न्यूजीलैंड और ऑस्ट्रेलिया को हराया है. दूसरी ओर, न्यूजीलैंड (New Zealand) की टीम भारत से सेमीफाइनल मुकाबला जीतने से पहले पाकिस्तान, ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड से हार गई थी. यानी, फॉर्म तो इंग्लैंड का ही अच्छा है. 

यह भी पढ़ें: World Cup: ‘दुश्मन’ की हार की दुआ कर रहा ऑस्ट्रेलिया, ‘न्यूजीलैंड के हमारे भाई उन्हें शर्मिंदा करेंगे’

अब बात करते हैं कि पिछले दो वर्ल्ड कप की. पिछला वर्ल्ड कप ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड में खेला गया था. यही दोनों टीमें फाइनल में पहुंचीं. फाइनल ऑस्ट्रेलिया में खेला गया और मेजबान टीम ही विश्व चैंपियन बनी. अब बात 2011 में खेले गए विश्व कप की. साल 2011 में विश्व कप की संयुक्त मेजबानी भारत, श्रीलंका और बांग्लादेश ने की. इसके फाइनल में भारत और श्रीलंका की टीमें पहुंचीं. फाइनल भारत में खेला गया और वही चैंपियन भी बना. 

पिछले दो विश्व कप के नतीजों को देखकर माना जा सकता है कि इस बार भी इंग्लैंड अपने होमग्राउंड का फायदा उठा सकता है. उसे सिर्फ घरेलू मैदान और परिस्थितियों का भर फायदा नहीं मिलेगा. उसकी टीम भी न्यूजीलैंड के मुकाबले मजबूत है. विश्व कप शुरू होने से पहले इंग्लैंड को ही चैंपियन बनने का नंबर-1 दावेदार कहा गया था. तब न्यूजीलैंड को अंडरडॉग कहा गया था. इस अंडरडॉग टीम ने उम्मीद से बेहतर प्रदर्शन कर सबको चौंकाया है. लेकिन इंग्लैंड के खिलाफ उसकी जीत की संभावना कम ही है.