close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

World Cup 2019: श्रीलंका सेमीफाइल की उम्मीदें कायम रखने की कोशिश में

दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ जीत की लय बरकरार रखते हुए श्रीलंका सेमीफाइनल की उम्मीदों को कायम रखने की कोशिश में उतरेगा.

World Cup 2019: श्रीलंका सेमीफाइल की उम्मीदें कायम रखने की कोशिश में
श्रीलंका के लिए अभी सेमीफाइनल की उम्मदें खत्म नहीं हुई हैं. (फाइल फोटो)

चेस्टर ली स्ट्रीट: आईसीसी विश्व कप 2019 (World Cup 2019)  में सेमीफाइनल का गणित रोचक हो गया है. वहीं पिछले मैच में श्रीलंका की इंग्लैंड  (Sri Lanka vs England) के खिलाफ जीत ने टीम में नया जोश भर दिया है. टीम अब शुक्रवार को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ (Sri Lanka vs South Africa) मुकाबले में जीत के साथ सेमीफाइनल में जगह बनाने की उम्मीद बरकरार रखने के इरादे से उतरेगी. हालांकि टीम को हार टूर्नामेंट से बाहर का रास्ता भी दिखा सकती है जिसका दबाव भी टीम पर होगा. वहीं टूर्नामेंट से बाहर हो चुकी दक्षिण अफ्रीका की टीम जीत कर अपना रिकॉर्ड सुधारने की कोशिश करेगी.

श्रीलंका ने बनाया टूर्नामेंट रोचक
इंग्लैंड के खिलाफ श्रीलंका की 20 रन की जीत ने सेमीफाइनल में जगह बनाने वाली टीमों की दावेदारी को रोचक बना दिया है. श्रीलंका की टीम फिलहाल दो जीत से छह अंक के साथ सातवें स्थान पर है. टीम को हालांकि सेमीफाइनल की उम्मीद जीवंत रखने के लिए अपने बाकी बचे तीनों मैच जीतने होंगे. श्रीलंका की टीम का इरादा अपने अभियान में नई जान फूंकने का होगा. श्रीलंका की टीम टूर्नामेंट के शुरू में कमजोर टीम मानी जा रही थी. इसके अलावा शुरुआती मैचों में हार के बाद उसके दो मैच बारिश की वजह से रद्द हो गए थे. लेकिन इंग्लैंड के खिलाफ जीत ने हालात बदल दिए.

यह भी पढ़ें: World Cup 2019: जानिए टूर्नामेंट में अपनी टीम की पहली हार पर क्या बोले विलियम्सन

दक्षिण अफ्रीका की कायम हैं समस्याएं
पिछले विश्व कप के सेमीफाइनल में जगह बनाने वाला दक्षिण अफ्रीका पाकिस्तान के खिलाफ 49 रन की हार के साथ नाकआउट की दौड़ से बाहर हो गया. टीम अपने निराशाजनक अभियान के दौरान गलतियों से सबक लेने में विफल रही. दक्षिण अफ्रीका के पास अब गंवाने के लिए कुछ नहीं है और टीम सांत्वना भरी जीत दर्ज करने की कोशिश करेगी. दक्षिण अफ्रीका के कप्तान फाफ डु प्लेसिस ने पाकिस्तान के खिलाफ हार के बाद कहा था, ‘‘आज हम जिस तरह खेले वह शर्मनाक है. फिलहाल हम सामान्य टीम नजर आ रहे हैं क्योंकि हम लगातार गलतियों को दोहरा रहे हैं. एक कदम आगे बढ़ना और दो कदम पीछे हटना अच्छी टीम की निशानी नहीं है.’’ उन्होंने कहा, ‘‘खिलाड़ियों का मनोबल गिरा हुआ है और वे गलतियां दोहरा रहे हैं .’’

दोनों टीमों की समस्या है बैटिंग
दोनों ही टीमों को अपने बल्लेबाजी क्रम को लेकर जूझना पड़ा है लेकिन श्रीलंका के पास लसिथ मलिंगा की अगुआई वाला अनुभवी गेंदबाजी आक्रमण है. इंग्लैंड के खिलाफ धनंजय डिसिल्वा के साथ मिलकर मलिंगा ने 233 रन के लक्ष्य का बचाव करने और मेजबान टीम को 212 रन पर समेटने में अहम भूमिका निभाई थी. श्रीलंका को हालांकि अगर एक और जीत दर्ज करनी है तो उनके बल्लेबाजों को बेहतर प्रदर्शन करना होगा और गेंदबाजों का साथ देना होगा.

टीमें इस प्रकार हैं:
दक्षिण अफ्रीका: फाफ डु प्लेसिस (कप्तान), एडिन मार्कराम, क्विंटन डि कॉक, हाशिम अमला, रासी वान डर डुसेन, डेविड मिलर, क्रिस मॉरिस, एंडिले फेहलुक्वायो, जेपी डुमिनी, ड्वेन प्रिटोरियस, बूरान हेंडरिक्स, कागिसो रबाडा, लुंगी एंगिडी, इमरान ताहिर, तबरेज शम्सी.

श्रीलंका: दिमुथ करुणारत्ने (कप्तान), धनंजय डिसिल्वा, नुवान प्रदीप, अविष्का फर्नांडो, सुरंगा लकमल, लसिथ मलिंगा, एंजेलो मैथ्यूज, कुसल मेंडिस, जीवन मेंडिस, कुसल परेरा, तिसारा परेरा, मिलिंदा श्रीवर्धना, लाहिरु तिरिमाने, इसुरू उदाना और जेफ्री वंडारसे.
(इनपुट भाषा से भी)