close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

World Cup 2019: विराट ने लिया पाकिस्तानी अंपायर अलीम डार से पंगा, ICC से मिली यह सजा

टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली ने विश्व कप में अफगानिस्तान के खिलाफ अंंपायर अलीम दार सेे बहस की थी जिस पर आईसीसी ने उन्हें दोषी माना है. 

World Cup 2019: विराट ने लिया पाकिस्तानी अंपायर अलीम डार से पंगा, ICC से मिली यह सजा
विराट कोहली अफगानिस्तान के खिलाफ ज्यादा ही जोश में दिखे. (फोटो:Reuters)

नई दिल्ली: आईसीसी विश्व कप 2019 (ICC World Cup 2019) में टीम इंडिया के हौसले बुलंद हैं. टीम एक के बाद एक मैच जीत रही हैं. शनिवार को एक कड़े और रोमांचक मुकाबले में टीम इंडिया ने अफगानिस्तान को हराकर अपनी नाक बचा ली, लेकिन जीत से टीम का उत्साह बढ़ा ही है. विराट कोहली भी मैदान पर पूरे जोश में नजर आ रहे हैं. इस जोश के कारण वे अंपायरों से भी बहस करने से गुरेज नहीं कर रहे हैं. शनिवार को अफगानिस्तान के खिलाफ फील्डिंग के दौरान जब टीम इंडिया ने रीव्यू गंवाया. कोहली को यह सहन नहीं हुआ और वे अंपायर के पास पहुंच कर बहस करने लगे. उसके बाद विराट को इसी मैच में अति आक्रामक अपील करने का दोषी पाया गया जिस पर आईसीसी ने उन्हें सजा सुनाई है. 

क्या सजा दी आईसीसी ने
आईसीसी ने भारत और अफगानिस्तान के बीच हुए मैच में आईसीसी कोड ऑफ कंडक्ट का लेवल वन तोड़ने का दोषी पाया है. आईसीसी विज्ञप्ति के अनुसार, ‘‘कोहली को खिलाड़ियों और सहयोगी स्टाफ की आईसीसी की आचार संहिता की धारा 2.1 के उल्लघंन का दोषी पाया गया जो एक अंतरराष्ट्रीय मैच के दौरान अत्यधिक अपील से संबंधित है.’’ यह आईसीसी आचार संहिता के लेवल एक का उल्लघंन है जिसमें न्यूनतम सजा अधिकारी की फटकार होती है जबकि अधिकतम सजा खिलाड़ी की मैच फीस से 50 प्रतिशत कटौती, एक या दो डिमैरिट अंक होते हैं. 

क्या हुआ था आखिर
भारत और अफगानिस्तान के बीच मैच में 29वें ओवर में बुमहाह की पहली गेंद पर रहमत शाह के खिलाफ एलबीडब्ल्यू की जोरदार अपील हुई. कोहली इस एलबीडब्ल्यू को लेकर ज्यादा ही जोश में दिखे लेकिन वे रीव्यू पहले ही गंवा चुके थे. बाद में रीप्ले में दिखा कि रहमत शाह अंपायर्स कॉल में बच जाते. विराट की यही आक्रामक अपील उन्हें आईसीसी की आचार संहिता के उल्लंघन का दोषी बना बैठी.

कोहली ने स्वीकर किया अपराध
कोहली ने अपराध स्वीकार कर इस जुर्माने को स्वीकार लिया है जो मैच रैफरियों के एमिरेट्स आईसीसी एलीट पैनल के मैच रैफरी क्रिस ब्राड द्वारा लगाया गया था. इसलिये अधिकारिक सुनवाई की जरूरत नहीं पड़ी. इसके अलावा कोहली के अनुशासनात्मक रिकार्ड में एक डिमैरिट अंक जुड़ गया है जो सितंबर 2016 में संशोधित संहिता के आने के बाद उनका दूसरा अपराध है. कोहली के अब दो डिमैरिट अंक हैं. उन्हें 15 जनवरी 2018 में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ प्रिटोरिया टेस्ट के दौरान एक डिमैरिट अंक मिला था. जब एक खिलाड़ी 24 महीने के अंदर चार या इससे ज्यादा अंक पर पहुंच जाता है तो इन्हें निलंबन अंक में बदल दिया जाता है और खिलाड़ी प्रतिबंधित हो जाता है. 

मैच के बाद क्या कहा विराट ने 
इस मैच में टीम इंडिया पहले बैटिंग करते हुए 50 ओवरों में केवल 224 रन बना सकी थी. इसके बाद वह आखिरी ओवर में अफगानिस्तान से मैच छीनने में सफल रही. विराट ने कहा कि अफगानिस्तान के खिलाफ विश्व कप मैच में जीत दर्ज करना बहुत जरूरी था क्योंकि इससे दो बार की चैंपियन टीम को अपना जज्बा दिखाने और हार के मुंह से जीत हासिल करने में मदद मिली. कोहली ने मैच के बाद कहा, "यह मैच हमारे लिए ज्यादा महत्वपूर्ण था क्योंकि चीजें रणनीति के अनुसार नहीं हुईं. और ऐसे ही समय में आपको अपना जज्बा दिखाते हुए वापसी करनी होती है." 
(इनपुट भाषा)