close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

World Cup: जब अपने विदेशी कोच से मिले दादा, टीम इंडिया के अपने सुनहरे दौर को किया याद

आईसीसी विश्व कप में भारत और बांग्लादेश के अभ्यास मैच के दौरान सौरव गांगुली टीम इंडिया के पू्व कोच जॉन राइट से मिले. दोनों ने अपने दौर की यादों को ताजा किया. 

World Cup: जब अपने विदेशी कोच से मिले दादा, टीम इंडिया के अपने सुनहरे दौर को किया याद
(फाइल फोटो)

नई दिल्ली: आईसीसी विश्व कप 2019 के प्रमुख मैचों के शुरू होने अब केवल एक दिन ही बाकी रह गया है. अभ्यास मैच हो चुके हैं. टीम इंडिया का आखिरी अभ्यास मैच बांग्लादेश के खिलाफ था जिसमें भारत ने 95 रनों से बड़ी जीत दर्ज की. इस जीत में टीम इंडिया के खिलाड़ियों के परफॉर्मेंस के अलावा एक बात की और चर्चा रही. वह थी मैच के कॉमेंट्री बॉक्स में टीम इंडिया के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली और उनकी कप्तानी के समय कोच रहे न्यूजीलैंड के पूर्व कप्तान जॉन राइट को एक साथ होना. 

बदनामी के दौर में बनी थी जोड़ी 
जॉन राइट उस समय टीम इंडिया के कोच बने थे जब टीम पर मैच फिक्सिंग का साया था. टीम को न केवल इस दाग से उबरना था, बल्कि अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में कई चुनौतियों का सामना करते हुए अपनी साख कायम करनी थी. इस जोड़ी को इसी बात के लिए जाना जाता है कि टीम ने अपनी एक नई पहचान बनाई. सालों बाद दोनों ही दिग्गज एक बार फिर साथ दिखाई दिए तो सभी को टीम इंडिया के उस बेहतरीन दौर की याद आ गई जब टीम इंडिया ने नई ऊंचाइयों को छुआ था. 

यह भी पढ़ें: World Cup 2019: टीम इंडिया की एक जीत ने दूर की 3 चिंता, कोहली ने कहा- ‘ड्रीम वार्मअप मैच’

क्या कहा दोनों ने
दोनों दिग्गजों ने मंगलवार को आईसीसी विश्व कप अभ्यास मैच में भारत और बांग्लादेश के मुकाबले के लिए कार्डिफ में कॉमेंट्री की. गांगुली और राइट ने उस दौर के अपने ड्रेसिंग रूम के अनुभव शेयर किए. गांगुली ने कहा, “जब मैं कप्तान था, जॉन राइट सभी फैसले लेते थे और मैं एक आज्ञाकारी विद्यार्थी की तरह उसे मानता था.” इसके जवाब में राइट ने कहा, “मेरी याद्दाश्त तब चली जाती क्योंकि मुझे लगता है कि आप आगे रहते थे और मैं तो पीछे ही रहता था. 

यादगार जीतें दी हैं दोनों ने
गांगुली ने कोच राइट से साथ मिलकर टीम इंडिया को कई यादगार जीत के तोहफे दिए हैं दोनों ने 2003 के विश्व कप को भी याद किया जब टीम इंडिया ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ शुरुआत में ही 9 विकेट से करारी हार झेलने के बाद वापसी की और टूर्नामेंट रनर अप बनकर खत्म किया.

यह भी पढ़ें: World Cup 2019: अभ्यास मैच में एमएस धोनी का शतक, जानिए क्यों खास है टीम इंडिया के लिए

दोनों की जोड़ी ने ऑस्ट्रेलिया के लगातार 16 टेस्ट मैच जीतने के सिलसिले को तोड़ा था. दोनों ने 2000 से लेकर 2005 तक टीम इंडिया को एक गौरवशाली दौर में पहुंचाया था.