AJL Case: CBI कोर्ट ने हरियाणा के पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्डा पर तय किए आरोप

CBI Court Frames Charges Against BS Hooda: साल 2005 में हरियाणा के तत्कालीन मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने नियमों को ताक पर रखकर एजेएल को जमीन दोबारा एलॉट कर दी थी. गौरतलब है कि एजेएल को इस बार उसी पुराने रेट पर जमीन अलॉट की गई जो रेट साल 1982 में था.

AJL Case: CBI कोर्ट ने हरियाणा के पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्डा पर तय किए आरोप
हरियाणा के पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्डा (फाइल फोटो) | फोटो साभार: PTI

पंचकुला: सीबीआई (CBI) कोर्ट पंचकुला ने हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा (Bhupinder Singh Hooda) पर एजेएल (Associated Journals Limited) के मामले में शुक्रवार को आरोप तय कर दिए. बता दें कि इस मामले में हुड्डा के साथ कांग्रेस नेता मोती लाल वोरा भी आरोपी थे.

क्या है एजेएल मामला?

पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्डा (Charges Against BS Hooda) पर आरोप है कि उन्होंने नियमों से बाहर जाकर एजेएल (AJL) को जमीन फिर से अलॉट की थी. सीबीआई ने 30 नवंबर, 2018 को हुड्डा के खिलाफ चार्जशीट दाखिल की थी. 

बता दें कि एजेएल नेशनल हेराल्ड (National Herald) के नाम से अखबार चलाती थी. ये मामला साल 1982 का है, जब हुड्डा सरकार ने एजेएल को जमीन अलॉट की थी. उसमें कहा गया था कि तय समय सीमा के अंदर कंस्ट्रक्शन शुरू होना चाहिए. लेकिन जब ये नहीं किया गया तो 1996 में जमीन वापस ले गई थी.

ये भी पढ़ें- पार्टी में खूनी खेल, पेचकस घोंप-घोंप कर बर्थडे बॉय को बेरहमी से उतारा मौत के घाट

पूर्व सीएम हुड्डा ने नियमों दरकिनार कर अलॉट की जमीन

फिर साल 2005 में तत्कालीन मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने नियमों को ताक पर रखकर एजेएल को जमीन दोबारा एलॉट कर दी थी. गौरतलब है कि एजेएल को इस बार उसी पुराने रेट पर जमीन अलॉट की गई जो रेट साल 1982 में था.

जान लें कि इस मामले में हरियाणा सरकार ने विजिलेंस इंक्वायरी की थी, जिसमें पाया गया था कि नियमों को दरकिनार करके हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री ने जमीन अलॉट की थी. उसके बाद ये मामला सीबीआई को सौंपा गया था.

ये भी पढ़ें- बंदूक की नोक पर जबरन ड्रग्स देकर 5 दिन तक किया बलात्कार, नाबालिग ने सुनाई आपबीती

इन धाराओं में पूर्व सीएम हुड्डा के खिलाफ केस दर्ज

भूपेंद्र सिंह हुड्डा के खिलाफ भारतीय दंड संहिता (Indian Penal Code) की धारा 120-B (आपराधिक साजिश), 420 (धोखाधड़ी), भ्रष्टाचार निरोधक कानून की धारा 13 (2) और भ्रष्टाचार निरोधक कानून की धारा 13 (1) (d) के तहत मुकदमा दर्जा किया गया था.

LIVE TV

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.