यौन शोषण के दोषी टीचर को क्राइम ब्रांच ने किया गिरफ्तार, CBI ने रखा था 5 लाख का इनाम

पुलिस अधिकारियों से मिली जानकारी के अनुसार, गुजरात हाई कोर्ट ने नाबालिग छात्रा से यौन शोषण के आरोप में दोषी मानते हुए आजीवन कारावास की सजा सुनाई थी. जिसके बाद वो कुछ समय के लिए परौल पर बाहर आया था. 

यौन शोषण के दोषी टीचर को क्राइम ब्रांच ने किया गिरफ्तार, CBI ने रखा था 5 लाख का इनाम
पकड़े गए आरोपी धवल त्रिवेदी का फोटो।

नई दिल्ली: क्राइम ब्रांच (Crime Branch) ने यौन शोषण (Sexual Exploitation) के आरोपी धवल त्रिवेदी उर्फ मुखतियार सिंह उर्फ सतनाम सिंह उर्फ सुजीत सिंह (50) को धर दबोचा है. केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) काफी समय से आरोपी की तलाश कर रही थी. विभाग ने इसकी गिरफ्तारी पर 5 लाख रुपये का इनाम भी रखा था. 

पुलिस अधिकारियों से मिली जानकारी के अनुसार, गुजरात हाई कोर्ट ने नाबालिग छात्रा से यौन शोषण के आरोप में दोषी मानते हुए आजीवन कारावास की सजा सुनाई थी. जिसके बाद वो कुछ समय के लिए परौल पर बाहर आया था. लेकिन समय पूरा होता देख आरोपी फरार हो गया और नाम बदल-बदल कर रहने लगा. 

क्राइम ब्रांच की डीसीपी मोनिका भारद्वाज ने बताया कि टीम को सूचना मिली थी कि पांच लाख रुपये का इनामी बदमाश इन दिनों हिमाचल प्रदेश में छुपा हुआ है. इसके तुरंत बाद दिल्ली से टीम रवाना और छापामारी कर आरोपी अध्यापक को गिरफ्तार कर दिल्ली ले आई. पुलिस ने बताया कि हिमाचल स्थित एक कारखाने में सुरक्षा गार्ड की नौकरी कर रहा था.

ये भी पढ़ें:- गोलियों की तड़तड़ाहट से गूंजी दिल्ली, डबल मर्डर से इलाके में मचा हड़कंप

आरोपी ने पूछताछ में बताया कि उसके पिता प्रोफेसर थे. उसने गुजरात विश्वविद्यालय से MA की पढ़ाई की है. जिसे बाद वो एक अध्यापक बन गया था. साल 1996 में उसने पहली शादी की थी, लेकिन कुछ महीने बाद ही पत्नी की मौत हो गई थी. जिसके बाद उसने साल 1998 दूसरी शादी की और उसकी एक बेटी भी है. लेकिन साल 2002 में वह पत्नी से अलग हो गया. 

इसके बाद ही उसने एक नाबालिग छात्रा के साथ यौन शोषण किया. इस मामले की सुनवाई गुजरात हाई कोर्ट में हुई. जहां आरोपी को दोषी करार देते हुए कोर्ट ने आजीवन कारावास की सजा सुनाई. लेकिन कुछ समय बाद वो पैरोल पर बाहर आ गया और बाद में फरार हो गया. जिसके बाद इस मामले की जांच मुंबई सीबीआइ को सौंपी गई थी.

LIVE TV

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.