पैसे दोगुना करने का झांसा देकर की लाखों की हेराफेरी, दिल्ली पुलिस ने किया गिरफ्तार

दिल्ली पुलिस (Delhi Police) की आर्थिक अपराध शाखा (EOW) ने तरुण तिरखा नाम के एक ऐसे आरोपी को गिरफ्तार किया है जिसने लोगों को कम समय में मल्टीलेवल मार्केटिंग (Multi Level Marketing) के जरिए पैसे दोगुना करने का लालच देकर ठगी (Cheating) की वारदात को अंजाम दिया था.

पैसे दोगुना करने का झांसा देकर की लाखों की हेराफेरी, दिल्ली पुलिस ने किया गिरफ्तार
प्रतीकात्मक तस्वीर।

नई दिल्ली: दिल्ली पुलिस (Delhi Police) की आर्थिक अपराध शाखा (EOW) ने तरुण तिरखा नाम के एक ऐसे आरोपी को गिरफ्तार किया है जिसने लोगों को कम समय में मल्टीलेवल मार्केटिंग (Multi Level Marketing) के जरिए पैसे दोगुना करने का लालच देकर ठगी (Cheating) की वारदात को अंजाम दिया था.

शिकायतकर्ता हर्ष कुमार ने बताया कि जनवरी 2009 के महीने में, आरोपी तरुण तिरखा ने एक विज्ञापन प्रकाशित किया जिसमें पैसे निवेश करने की योजना के लिए आवेदन आमंत्रित किए गए थे. उस स्कीम में तरुण ने ट्रेवल बिजनेस के जरिए निवेश की गई राशि को दोगुनी करने का भरोसा दिया था. जुलाई 2010 में, शिकायतकर्ता को आरोपियों द्वारा करोल बाग में बुलाया गया था और 3 वर्षों में उनके निवेश पर दोगुना निवेश करने के लिए अपने निवेश पर भारी मुनाफे का दावा किया था. आपको बता दें कि लालच में आकर शिकायतकर्ता हर्ष कुमार ने 22 लाख रुपये की अवधि में निवेश किया था. 

ये भी पढ़ें:-BJP के 'हनुमान', जिनके लिए कहा गया-'पेप्‍सी और प्रमोद कभी अपना फॉर्मूला नहीं बताते'

इसके बाद आरोपी ने निवेशकों को एक और गैर कानूनी स्कीम पेश की, जहां उसने हर निवेशक को कंपनी V2 इंटरनेशनल प्राइवेट लिमिटेड का एजेंट बना दिया और सभी निवेशकों को निवेश पर कमीशन देना था. हालांकि, उसने कभी कोई कमीशन नहीं दिया. शिकायतकर्ता के साथ ही उसके जानकार कई लोगों ने भी लालच में आकर इस V2 इंटरनेशनल प्राइवेट लिमिटेड में भारी धनराशि का निवेश किया. कुछ समय बाद जब हर्ष को ठगी का एहसास हुआ क्योंकि तरुण ने निवेश किए गए पैसों की कोई डिटेल नहीं दी थी. जिसके बाद बैंक खातों की जांच से पता चला कि आरोपी तरुण त्रिखा ने शिकायतकर्ता हर्ष कुमार और रफी उल्लाह अंसारी से अपने निजी खाते में धन प्राप्त किया, लेकिन वह इसके लिए कोई जवाब नहीं दे सका और न ही वह अपने निजी खाते में धन प्राप्त करने के लिए कोई दस्तावेज पेश कर सका. इसके अलावा, उन्होंने पैसे भी नहीं लौटाए.

ये भी पढ़ें:- जाकिर नाइक ने उगला जहर- 'अल्‍लाह के बंदे को गाली देने वाले को दर्दनाक सजा मिलेगी'

विस्तृत जांच से पता चला है कि आरोपी व्यक्ति भारत में अपने ट्रैवल उत्पादों और सेवाओं के लिए मेसर्स टीसीआई एक्सप्रेस इंटरनेशनल को बढ़ावा देता था. मेसर्स टीसीआई एक्सप्रेस इंटरनेशनल का उपयोग अपने सदस्यों को यात्रा सेवाएं प्रदान करने के लिए किया गया था और इस स्कीम से जुड़े सभी सदस्य यात्रा से संबंधित लाभों के हकदार हैं, लाभों में 3 नाईट 4 दिन होटल में रहना या 7 रात 8 दिन एक रिसॉर्ट में रहना शामिल है. भारत में सदस्यता बनने की फीस 13,000 रुपये थी. आरोपी ने अपने निजी खातों में पैसा डाला. आरोपी तरुण तिरखा के खिलाफ पश्चिम बंगाल, कर्नाटक, सीबीआई आदि में भी पहले से कई मामले दर्ज थे. दिल्ली पुलिस ने अपने केस में आरोपी तरुण तिरखा को गिरफ्तार कर लिया और अब ये जानने की कोशिश की जा रही है कि मल्टीलेवल मार्किटिंग के नाम पर कितने लोगों को चूना लगाया है.

LIVE TV

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.