close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

मनी लॉन्ड्रिंग केस में कांग्रेस नेता डीके शिवकुमार को 17 सितंबर तक ईडी की अतिरिक्त रिमांड

मनी लॉन्ड्रिंग (Money laundering) मामले में शुक्रवार को कांग्रेस नेता डीके शिवकुमार (DK Shivakumar) की रॉउज एवेन्यू कोर्ट में पेशी हुई. ईडी ने कोर्ट से डीके शिवकुमार की 5 दिनों की अतिरिक्त रिमांड मांगी. 

मनी लॉन्ड्रिंग केस में कांग्रेस नेता डीके शिवकुमार को 17 सितंबर तक ईडी की अतिरिक्त रिमांड
(फाइल फोटो)

नई दिल्ली: मनी लॉन्ड्रिंग (Money laundering) मामले में शुक्रवार को कांग्रेस नेता डीके शिवकुमार (DK Shivakumar) की रॉउज एवेन्यू कोर्ट में पेशी हुई. ईडी ने कोर्ट से डीके शिवकुमार की 5 दिनों की अतिरिक्त रिमांड मांगी थी. जिसके बाद कोर्ट ने डीके शिवकुमार को 17 सितंबर तक ईडी की अतिरिक्त रिमांड में भेज दिया है. कोर्ट ने शिवकुमार की जमानत अर्जी पर ईडी को जवाब देने को कहा है. इस दौरान एडिशनल सोलिसिटर जनरल नटराज ईडी के तरफ से पेश हुए. उन्होंने कहा, "शिवकुमार जांच में सहयोग नहीं कर रहे हैं. वो बार-बार ब्रेक ले रहे हैं. वो सवालों के जवाब नहीं दे रहे हैं. शिवकुमार उनसे संबंधित बेनामी प्रापर्टी (benami properties) और बैंक खातों के सवालों का जवाब नहीं दे रहे हैं."

शिवकुमार की बेटी 108 से ज्यादा की संपत्ति
ईडी के वकील का कहना है कि डीके शिवकुमार (DK Shivakumar) ने 200 करोड़ से ज्यादा पैसे की लांड्रिंग की है. डीके शिवकुमार की बेटी के नाम 108 से ज्यादा की संपत्ति है. डीके शिवकुमार बेहद अहम जानकारियां दबाकर बैठे हैं. ईडी के मुताबिक शिवकुमार के पारिवारिक सदस्यों और नजदीकी लोगों द्वारा 20 बैंकों में 317 बैंक अकाउंट (bank accounts) चलाए जा रहे हैं.

ईडी ने शिवकुमार पर लगाए समय बर्बाद करने के आरोप
ईडी ने आरोप लगाए हैं कि शिवकुमार (DK Shivakumar) एजेंसी को अप्रसांगिक जानकारियां दे रहे हैं और एजेंसी का समय बर्बाद कर रहे हैं. ईडी ने रिमांड के पक्ष में तर्क रखते हुए कहा कि उनसे अन्य आरोपियों के सामने पूछताछ करने की जरूरत है.

देखें लाइव टीवी

पहले 13 सितंबर तक दी गई थी कस्टडी
गौरतलब है कि दिल्ली की रॉउज एवेन्यू कोर्ट ने 4 सितंबर को कांग्रेस नेता डीके शिवकुमार (DK shivakumar) को 13 सितंबर तक ईडी (Enforcement directorate) की कस्टडी में भेज दिया था. बुधवार (4 सितंबर) को सुनवाई के दौरान ही शिवकुमार के वकीलों ने जमानत की याचिका भी लगाई थी. सुनवाई के दौरान शिवकुमार के वकीलों का कहना था कि लगातार उनको परेशान किया जा रहा है.