Zee Rozgar Samachar

Malware के जरिए धोखाधड़ी करने वाले गिरोह का भंडाफोड़, China के 2 नागरिक अरेस्ट

दिल्ली पुलिस की साइबर सेल द्वारा गिरफ्तार किए गए चीनी नागरिकों से नकदी के रूप में 25 लाख रुपये बरामद किए गए हैं, जबकि विभिन्न खातों में जमा धोखाधड़ी की 4.75 करोड़ रुपये की राशि ब्लॉक कर दी गई है.

Malware के जरिए धोखाधड़ी करने वाले गिरोह का भंडाफोड़, China के 2 नागरिक अरेस्ट
मालवेयर के जरिए धोखाधड़ी करने वाली 2 चीनी महिलाओं को अरेस्ट किया गया | फोटो साभार: IANS

नई दिल्ली: देश की राजधानी दिल्ली में साइबर सेल ने ऑनलाइन मल्टी-लेवल मार्केटिंग कैंपेन के जरिए आकर्षक रिटर्न का लालच दिखाकर लोगों को ठगने वाले एक अंतरराष्ट्रीय मालवेयर और फ्रॉड गिरोह को पकड़ लिया है. अरेस्ट किए गए लोगों में 2 चीनी नागरिक भी हैं.

दिल्ली पुलिस (Delhi Police) ने शुक्रवार को बताया कि उन्होंने ऑनलाइन फ्रॉड के इस मामले में अब तक कुल 12 लोगों को अरेस्ट किया है. इनमें दो चीन के नागरिकों के साथ एक तिब्बत का नागरिक भी है. पुलिस के मुताबिक, आरोपी एक एमएलएम ऐप की मदद से लोगों के डिवाइस में मालवेयर की सेंधमारी करते थे.

बता दें कि दिल्ली पुलिस की साइबर सेल (Cyber Cell) की तरफ से 13 जनवरी से शुरू किए गए छापों में अब तक कुल 12 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है, जिनमें दो महिला चीन (China) की नागरिक चौहांग देंग दाओयॉन्ग (27) और वू जियाजी (54) शामिल हैं.

ये भी पढ़ें- कलियुगी पिता ने अपनी सगी बेटियों से किया रेप, विरोध करने पर चुभाया सेफ्टी पिन

गौरतलब है कि लगभग 40,000 ऐसे पुष्ट पीड़ितों की पहचान की गई है, जिनके साथ दो महीने के दौरान करोड़ों रुपये की धोखाधड़ी की गई है. गिरफ्तार किए गए चीनी नागरिकों से नकदी के रूप में 25 लाख रुपये बरामद किए गए हैं, जबकि विभिन्न खातों में जमा धोखाधड़ी की 4.75 करोड़ रुपये की राशि ब्लॉक कर दी गई है.

डीसीपी अनयेश राय ने खुलासा करते हुए बताया कि सब्सक्रिप्शन का जमा कराया गया पैसा 40 से ज्यादा कंपनियों में रूट होता था, जिसमें कई चीनी डायरेक्टर भी हैं. उन्होंने कहा कि हमने 13 जनवरी को दिल्ली में कई जगह छापा मारकर एक ऐप से जुड़े 12 लोगों को गिरफ्तार किया गया है, जिसमें दो चीनी नागरिक भी शामिल हैं.

बता दें कि मालवेयर का उपयोग कंप्यूटर पर महत्वपूर्ण जानकारी की चोरी करने या गोपनीय जानकारी में सेंध लगाने के लिए किया जाता है. कई मालवेयर अवांछनीय ईमेल भेजने और कंप्यूटर पर गोपनीय और अश्लील संदेश भेजने और प्राप्त करने का काम करते हैं.

ये भी पढ़ें- बेझिझक होकर खाएं चिकन, Bird Flu से डरने की जरूरत नहीं; बस इस बात का रखें खयाल

इसमें विशेष बात यह है कि इसका प्रयोग कई हैकिंग करने वाले हैकर अपने हित में करते हैं और यूजर्स को इसका पता तक नहीं चल पाता है कि उनके अकाउंट से क्या मेल किया गया है.

LIVE TV

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.