IPS अधिकारी के नाम से फर्जी आईडी बनाकर करता था ठगी, पुलिस ने किया गिरफ्तार

 जारचा पुलिस ने रवि सिंह नाम के एक शख्स को सूरजपुर इलाके के भाटी कालोनी से गिरफ्तार किया है.

IPS अधिकारी के नाम से फर्जी आईडी बनाकर करता था ठगी, पुलिस ने किया गिरफ्तार

ग्रेटर नोएडा: जारचा पुलिस ने रवि सिंह नाम के एक शख्स को सूरजपुर इलाके के भाटी कालोनी से गिरफ्तार किया है. आरोपी अपने रिश्तेदार अशोक सिंह जो सूरजपुर के भाटी कॉलोनी में किराए में रहते थे, उनके मोबाइल फोन से आईपीएस राहुल भाटी की फर्जी फेसबुक आईडी बनाकर उनके रिश्तेदार व जानकारों से पेटीएम वॉलेट के माध्यम से रुपयों की मांग की थी.

पूछताछ में पता चला है कि आरोपी के द्वारा  आईपीएस राहुल भाटी के अलावा आईआरएस अंकुर भाटी, आईएएस अनुज प्रताप सिंह और सिविल सर्वेंट आशीष चौहान की फर्जी फेसबुक आईडी बनाकर पैसो की मांग की थी. 

यह भी पता चला कि पूर्व में इसने दिल्ली के आईपीएस रोहित राजवीर सिंह और साक्षी अग्रवाल आईआरएस की फर्जी फेसबुक आईडी बनाकर जनता के लोगों से ठगी की थी. इसके बाद वो जेल भी गया था और IPS अभिनय विश्वकर्मा की फेसबुक आईडी बनाकर सुरजीत सिह नाम के व्यक्ति से 56 हजार रुपये की ठगी भी की थी.

वह 5 अप्रैल को  कोविड- 19 के प्रकोप के बाद पैरोल जमानत पर रिहा हुआ था. अभियुक्त ने 12वीं तक पढ़ाई की है. इसने IPS, IAS, IRS अधिकारियों की फर्जी फेसबुक आईडी बनाकर लोगों से फेसबुक के माध्यम से रुपयों की मांग की.  पुलिस ने इसे गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है. आरोपी के पास सैमसंग और जियो के दो मोबाइल फोन बरामद हुए हैं.

प्रशिक्षु आईपीएस अधिकारी की फर्जी फेसबुक आईडी बनाकर उनके परिचितों और रिश्तेदारों से उनके नाम पर पेटीएम वॉलेट के माध्यम से पैसे मांगने के आरोप में थाना जारचा पुलिस ने बुधवार को एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया. यह व्यक्ति इससे पूर्व भी दर्जनों आईपीएस, आईआरएस, आईएएस अधिकारियों की फर्जी फेसबुक आईडी बनाकर उनके परिचितों से पैसे मांग चुका है.

पुलिस उपायुक्त (जोन तृतीय) राजेश कुमार सिंह ने बताया कि थाना जारचा पुलिस ने सूचना के आधार पर भाटी कॉलोनी निवासी रवि सिंह को बुधवार को गिरफ्तार कर लिया जो मूल रूप से जनपद प्रतापगढ़ का निवासी है.

उन्होंने बताया कि उक्त आरोपी ने जनपद गौतम बुद्ध नगर में तैनात प्रशिक्षु आईपीएस अधिकारी राहुल भाटी की फर्जी फेसबुक आईडी बनाकर, उनके रिश्तेदारों और जानकारों से उनके नाम पर पेटीएम वॉलेट के माध्यम से रुपयों की मांग की थी.

अधिकारी ने बताया कि पूछताछ में गिरफ्तार आरोपी ने पुलिस को बताया कि उसने आईपीएस राहुल भाटी के अलावा आईआरएस अंकुर भाटी और आईएस अनुज प्रताप सिंह तथा लोकसेवक आशीष चौहान की फर्जी फेसबुक आईडी बनाकर, उनके परिजनों और दोस्तों से भी पैसों की मांग की थी.

उन्होंने बताया कि पुलिस को यह भी पता चला है कि दिल्ली की तिहाड़ जेल में तैनात आईपीएस अधिकारी रोहित राजवीर सिंह और आईआरएस अधिकारी साक्षी अग्रवाल की फर्जी फेसबुक आईडी बनाकर उक्त अपराधी ने उनके जानकारों से उनके नाम पर पैसे ठगे थे.

अधिकारी ने बताया कि गिरफ्तार आरोपी ने आईपीएस अभिनय विश्वकर्मा की फर्जी फेसबुक आईडी बनाकर सुरजीत सिंह नाम के व्यक्ति से 56 हजार रुपये की ठगी की थी। इस मामले में थाना सूरजपुर से वह जेल गया था.

उन्होंने बताया कि अभी हाल ही में कोविड-19 के चलते उत्तर प्रदेश सरकार ने जेलों में बंद अपराधियों को पैरोल पर रिहा किया है. इसी के तहत यह अपराधी कुछ दिन पूर्व पैरोल पर रिहा होकर जेल से बाहर आया था. गिरफ्तार आरोपी 12वीं कक्षा तक पढ़ा है. उसके पास से पुलिस ने दो मोबाइल फोन बरामद किए हैं. पूछताछ के दौरान गिरफ्तार आरोपी ने दर्जनों अधिकारियों की फर्जी फेसबुक आईडी बनाकर उनके नाम पर उनके परिचितों और दोस्तों से मोटी रकम वसूलने की बात स्वीकार की है.

अधिकारी ने बताया कि यह अपराधी अधिकारियों की फर्जी फेसबुक आईडी बनाकर उनके दोस्तों, परिचितों और रिश्तेदारों को फेसबुक के माध्यम से संदेश देता है कि उन्हें कुछ पैसों की जरूरत है. वह जल्द पैसे लौटा देंगे. यह व्यक्ति पेटीएम वॉलेट में उनसे पैसे मंगवाकर ठगी करता था.

ये भी देखें: