close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

हुगली शर्मसार! पहले की विकलांग की निर्मम हत्या, फिर...

बीते शुक्रवार को देर रात हुगली स्टेशन रोड में एक विकलांग व्यक्ति की हत्या कर जला दिया गया जिसके बाद इलाके में तनाव पसर गया . मृतक का नाम लक्ष्मी कर्मकार (52 साल ) है.

हुगली शर्मसार! पहले की विकलांग की निर्मम हत्या, फिर...

हुगलीः बीते शुक्रवार को देर रात हुगली स्टेशन रोड में एक विकलांग व्यक्ति की हत्या कर जला दिया गया जिसके बाद इलाके में तनाव पसर गया . मृतक का नाम लक्ष्मी कर्मकार (52 साल ) है . आरोपी संजय राजबंशी जो घटनास्थल से फरार हो गया था, जिसे बर्दवान स्टेशन से गिरफ्तार किया गया है. आरोपी और मृतक दोनों ही हुगली स्टेशन से सटे लोहरपाड़ा इलाके के रहने वाले थे . इलाके के लोगों ने डर और आतंक के चलते कुछ भी कहने से इंकार कर दिया है. वहीं पुलिस का शुरुआती अनुमान यह है की किसी व्यक्तिगत कारण के चलते यह हत्या की गई होगी. लक्ष्मी की हत्या के पहले का एक CCTV फुटेज मिला है जिसमे आरोपी संजय लक्ष्मी के ऊपर ईंट फेंकता दिखाई दे रहा है.

हुगली जिले के बैनडेल इलाके की GRP की गाड़ी जब घटनास्थल पर पहुंची उसी वक्त आरोपी वहां से भाग निकला. मिली जानकारी के मुताबिक लक्ष्मी और संजय में पहले भी विवाद हो चुका था और संजय ने आपसी रंजिश के चलते ही लक्ष्मी की हत्या की है. पुलिस ने बताया कि संजय ने पहले तो लक्ष्मी को पीट-पीटकर मार डाला और उसके बाद लक्ष्मी के शव को आग लगा दी.

देखें LIVE TV

पश्चिम बंगाल के हुगली में नहर में तैरता मिला BJP नेता का शव, इलाके में फैली सनसनी

वहीं इलाके के ही कुछ लोगों ने बताया की  मृत व्यक्ति उसी जगह पर पड़ा रहता था और वहीं लोगों से मांग-मांग कर खाना खाता था, लेकिन कल की घटना पर कुछ भी कहने से बचते दिखे और इतना ही बताया कि उसको मार दिया इसके अलावा कुछ नहीं पता .

पश्चिम बंगाल: एक ब्रिज का दो बार उद्घाटन! राज्य सरकार ने कर दिया, 30 को रेल मंत्री करेंगे

एक इलाके की महिला बादली कर्मकार  ने बताया की इस तरह से मार कर जला देना बहुत गलत है . आरोपी संजय को सजा देने की मांग की और साथ ही यह भी कहा की वो दोबारा ऐसा नहीं करेगा इसकी क्या गारंटी है. सैलेन कर्मकार ने बताया की उन्हें सुबह इस घटना के बारे में पता चला और बताया की मृतक विकलांग था और उसे क्यों मारा यह नहीं पता.