close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

मुंबई: शातिर चोर सोनू साथी के साथ गिरफ्तार, वारदात के बाद पुलिस से कहता था, 'पकड़ सको, तो पकड़ लो'

सोनू बनिया कुमार नाम के इस शातिर चोर के खिलाफ शहर भर में 50 से ज्यादा मामले दर्ज हैं और यह अब तक 6 बार जेल जा चुका है.

मुंबई: शातिर चोर सोनू साथी के साथ गिरफ्तार, वारदात के बाद पुलिस से कहता था, 'पकड़ सको, तो पकड़ लो'
इस गिरफ्तारी के बाद पुलिस चोरी के 7 मामलों को सुलझाने का दावा कर रही है.

मुंबई: मुंबई पुलिस ने एक ऐसे शातिरचोर को गिरफ्तार किया है, जो इंटरनेट से पुलिस को चकमा देने की तरकीब सीखकर एजेंसियों को लंबे समय से चुनौती दे रहा था. सोनू बनिया कुमार नाम के इस शातिर चोर के खिलाफ शहर भर में 50 से ज्यादा मामले दर्ज हैं और यह अब तक 6 बार जेल जा चुका है. चौंकाने वाली बात यह है कि वह जब भी जेल में जाता तो यह वहां के सभी कैदियों से यही जाने की कोशिश करता कि आखिर वे पुलिस की गिरफ्त में कैसे आए. इन कैदियों की गलती से सबक सीखकर यह अपने अगली वारदात की साजिश रचता.  

आरोपी यूट्यूब और इंटरनेट पर मुंबई पुलिस की लगभग सभी प्रेस कॉन्फ्रेंस के वीडियो देखता और उससे सीखता कि आखिर मुंबई पुलिस की आंख में धूल कैसे झोंकी जा सकती है, जिस इलाके में चोरी की वारदात को अंजाम देना है उस इलाके के पुलिस थाने को लेकर भी यह अपना तगड़ा होमवर्क करता. मसलन, कौन सा अधिकारी कितने बजे आता है और किस अधिकारी के जांच करने का तरीका कैसा है?

आप यह जानकर हैरान हो जाएंगे रह जाएंगे कि चौकी की वारदात को अंजाम देने के बाद यह बाकायदा पुलिस को फोन कर चुनौती देता कि 'अगर मुझे पकड़ सको, तो पकड़ लो'. लंबे समय तक पुलिस के साथ आंख मिचौली का खेल खेलने के बाद खुद को शातिर समझने वाले इस चोर की चालाकी ज्यादा दिनों तक चल नहीं पाई और आखिरकार अपने एक अन्य युवक के साथ आरोपी हत्थे चढ़ गया. 

पुलिस के मुताबिक, सोनू बनिया कुमार 15 साल की उम्र से ही चोरी की वारदातों को अंजाम देते आ रहा है और वह अब गाड़ियों में से महंगे सामान चुराने में माहिर है. यह गाड़ियों के शीशे तोड़े बगैर ही पलक झपकते भर में दरवाजा खोल कर गाड़ी में रखे लैपटॉप, टेबलेट या आईपैड जैसी महंगी चीजों को चुराकर रफूचक्कर हो जाते. पुलिस की जांच के तरीकों से वाकिफ सोनू कुमार हर बार पुलिस को झांसा देने के लिए किसी जगह मोबाइल ऑन कर पुलिस को बुलाता और फिर मोबाइल बंद कर दूसरी दिशा में निकल जाता. पकड़े जाने से बचने के लिए वह खास मौके पर ही मोबाइल ऑन करता. इसके अलावा मोबाइल और सिमकार्ड लगातार बदलता रहता था.

लाइव टीवी देखें

शिवडी इलाके में हाल ही में एक ऐसी ही चोरी को अंजाम देने के बाद गिरफ्तार हुए इन दोनों आरोपियों के पास से मुंबई पुलिस ने 14 लैपटॉप, एक आईपैड और कुछ इलेक्ट्रानिक सामान बरामद किया है, जिसकी कीमत 8 लाख रुपए से ज्यादा है. गिरफ्तारी के वक्त सोनू गुजरात में कुछ सराफा व्यवसायियों को लूटने की तैयारी कर रहा था. अपने शिकार के लिए इन्होंने दुकानों की रेकी भी कर ली थी और साजिश को अंजाम देने के बाद पुलिस को चकमा देने का इंतजाम तक कर लिया था लेकिन शहर छोड़ने से पहले सोनू कुमार और उसका साथी पुलिस के हत्थे चढ़ गया. 

बहरहाल इस गिरफ्तारी के बाद पुलिस चोरी के 7 मामलों को सुलझाने का दावा कर रही है. शिवडी पुलिस की जांच के बाद शहर के कई अलग-अलग पुलिस थानों के अधिकारी अलग-अलग मामलों में सोनू कुमार को हिरासत लेना चाहते हैं, ऐसे में अब इस चालाक चोर का जमानत पर जल्द रिहा होना मुश्किल दिखाई दे रहा है.