केरल: सोना तस्करी मामले में NIA की 6 जगहों पर ताबड़तोड़ छापेमारी, 6 आरोपी गिरफ्तार

इससे पहले 4 अन्य लोगों को तस्करी के आरोपों में गिरफ्तार किया जा चुका है. अधिकारियों ने बताया कि अबतक कुल 10 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है. 

केरल: सोना तस्करी मामले में NIA की 6 जगहों पर ताबड़तोड़ छापेमारी, 6 आरोपी गिरफ्तार

केरल: राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) ने केरल सोना तस्करी मामले (Gold Smuggling Case) में 6 जगहों पर ताबड़तोड़ छापेमारी कर 6 आरोपियों को गिरफ्तार किया है. इससे पहले 4 अन्य लोगों को तस्करी के आरोपों में गिरफ्तार किया जा चुका है.

बता दें कि NIA ने 30 जुलाई को दो आरोपी जलाल ए एम और सैद अलवी को गिरफ्तार किया था. इन दोनों पर आरोप है कि ये पहले से ही गिरफ्तार आरोपी रमिश केटी के साथ साजिश रच कर यूएई (UAE) डिप्लोमेटिक बैगेज में सोना तस्करी कर भारत ला रहे थे. इस गिरफ्तारी के बाद NIA ने 31 जुलाई को मोहम्मद शाफी और अब्दू पी टी को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की थी.

बताया जा रहा है कि इन दोनों आरोपियों पर भी रमिश केटी के साथ मिलकर साजिश रचने और सोना तस्करी करने का आरोप है. इन चारों आरोपियों की गिरफ्तारी और पुछताछ के बाद 1 अगस्त को NIA ने दो और लोगों को गिरफ्तार कर लिया. इनका नाम मुह्मद अली इब्राहिम और मोहम्मद अली बताया जा रहा है.

ये भी पढ़ें:- CAIT 9 अगस्त को मनाएगा 'चीन भारत छोड़ो' दिवस, रक्षाबंधन पर बीजिंग को 4 हजार करोड़ का झटका

अधिकारियों ने बताया कि ये दोनों आरोपी जलाल एएम के साथ मिलकर बाजार में सोने को बेचा करते थे. गिरफ्तार आरोपी मोहम्मद अली PFI का मेंबर है और इससे पहले साल 2010 में केरल के प्रोफेसर टीजे जोसेफ के हाथ काटने के मामले में गिरफ्तारी के बाद चार्जशीट भी हो चुका है, लेकिन साल 2015 में अदालत ने इसे बरी कर दिया था.

इन 6 आरोपियों की गिरफ्तारी के बाद NIA ने 2 अगस्त को आरोपी जलाल एएम, राबिन हामिद रमिश केटी, मोहम्मद शाफी, सैद अल्वी और अब्दू पी टी के घर और बाकी ठिकानों पर छापेमारी की. जहां से 2 हार्ड डिस्क, 1 टैबलेट पीसी, 8 मोबाइल, 6 सिम कार्ड, 1 डिजिटल वीडियो रिकार्डर और 5 डीवीडी जब्त बरामद हुए. इसके अलावा आरोपियों के बैंक से जुड़े दस्तावेज भी जब्त NIA ने जब्त कर लिए हैं. 

ये भी पढ़ें:- PHOTOS: भूमिपूजन वाले दिन रामलला को पहनाए जाएंगे ये वस्त्र, देखिए पहली झलक

इस केस का खुलासा उस समय हुआ था जब 30 जून को दुबई से डिप्लोमेटिक बैग केरल एयरपोर्ट पर आया था और कस्टम अधिकारियों को बैग में सोना तस्करी होने का शक हुआ था. 5 जुलाई को जब दुबई दूतावास का पूर्व कर्मचारी पीएस सरीथ बैग लेने आया तो उसके सामने ही कस्टम अधिकारियों ने बैग खोला जिसमें से 30 किलो सोना मिला था, जिसकी कीमत करीब 14 करोड़ रुपये थी. जिसके बाद इस पूरे सोना तस्करी के रैकेट का खुलासा हुआ. 

LIVE TV-

स्वपना सुरेश जो पहले दुबई दूतावास में काम कर चुकी है और फिलहाल केरल सरकार के साथ काम रही है, को इस पुरे मामले का मास्टरमाइंड बताया गया है. बताते चलें कि स्वपना केरल के मुख्यमंत्री पी विजयन की भी काफी करीबी थी जिसके बाद विपक्षी पार्टियों ने इस तस्करी के मामले को बड़ी साजिश बताया. बीजेपी ने आरोप लगाये थे कि सोना तस्करी के जरिए आतंकियों को फंडिग में मदद की जा रही है. इसके बाद इस पूरे मामले की जांच NIA को सौंपी गई थी. NIA ने इस मामले में स्वपना सुरेश समेत 10 आरोपियों को गिरफ्तार किया है.

ये भी देखें-