Zee Rozgar Samachar

Nirav Modi के भाई पर 19 करोड़ के हीरे हड़पने का आरोप, New York में केस

नेहल मोदी (Nehal Modi) के खिलाफ आरोपों की घोषणा करते हुए प्रोसीक्यूटर साय वेंस ने कहा, 'हीरे हमेशा के लिए होते हैं लेकिन यह ठगी की योजना हमेशा नहीं रहेगी. वो अब न्यूयॉर्क (New York) सुप्रीम कोर्ट के अभियोग का सामना करेंगे.'

Nirav Modi के भाई पर 19 करोड़ के हीरे हड़पने का आरोप, New York में केस
फाइल फोटो: (Nehal Modi & Nirav Modi)

न्यूयॉर्क: भगोड़े हीरा कारोबारी नीरव मोदी (Nirav Modi) के भाई नेहल मोदी पर दुनिया की सबसे बड़ी हीरा कंपनियों में से एक के साथ मल्टीलेयर्ड स्कीम के जरिए 2.6 मिलियन डॉलर यानी करीब 19 करोड़ रुपये से ज्यादा रकम की धोखाधड़ी करने का आरोप लगा है. 

ठगी की योजना हमेशा नहीं रहेगी
नेहल मोदी (Nehal Modi) के खिलाफ आरोपों की घोषणा करते हुए प्रोसीक्यूटर साय वेंस ने कहा, 'हीरे हमेशा के लिए होते हैं लेकिन यह ठगी की योजना हमेशा नहीं रहेगी. वो अब न्यूयॉर्क (New York) सुप्रीम कोर्ट के अभियोग का सामना करेंगे.' मोदी पर मैनहट्टन स्थित एक डायमंड होलसेल कंपनी से 2.6 मिलियन डॉलर से अधिक मूल्य के हीरे लेने के लिए सुप्रीम कोर्ट में 'फर्स्ट डिग्री में बड़ी चोरी' का आरोप लगाया गया है. 

1 मिलियन डॉलर से अधिक की चोरी
न्यूयॉर्क राज्य के कानूनों के तहत पहली डिग्री में बड़ी चोरी के अपराध से मतलब 1 मिलियन डॉलर से अधिक की चोरी है, जिसमें अधिकतम सजा 25 साल की जेल है. न्यूयॉर्क पोस्ट के अनुसार, मोदी ने अदालत को बताया कि वह इस आरोप के दोषी नहीं हैं और फिर उन्हें बिना जमानत के ही रिहा कर दिया गया. 

ये भी पढ़ें- अमेरिका और लंदन में बंद हुए कई Apple Stores, जानें क्या है वजह

भारत में भी वांटेड है नेहल मोदी
बता दें कि नेहल मोदी पंजाब नेशनल बैंक से जुड़े 13,500 करोड़ रुपये (लगभग 1.9 बिलियन डॉलर) की धोखाधड़ी (PNB Fraud) के मामले में भारत में वॉन्टेड है और भारत के अनुरोध पर इंटरपोल ने एक रेड नोटिस भी जारी किया है. 

2015 में की धोखाधड़ी की शुरुआत
यह दुनिया भर में कानून लागू करने वाली एजेंसियों से उसकी गिरफ्तारी के लिए अनुरोध करता है. नेहल का प्रत्यर्पण अभी लंबित है. न्यूयॉर्क में न्यायिक प्रक्रिया के तहत प्रोसीक्यूटर्स ने मामले को पहले जूरी के सामने पेश किया, जिसने तय किया कि इस मामले को आगे बढ़ाना चाहिए. धोखाधड़ी की शुरूआत 2015 से होती है, जब नेहल मोदी ने एक कंपनी के साथ मिलकर झूठा प्रजेंटेश करने के लिए LLD डायमंड्स यूएसए से 2.6 मिलियन डॉलर मूल्य के हीरे लिए. 

ये भी देखें- PHOTOS: Monalisa ने हाईस्लिट लहंगे में ढाया कहर, फैंस हो रहे घायल

Modus operandi of Nehal Modi
प्रोसीक्यूशन ने कहा कि मार्च 2015 में मोदी ने पहली बार कंपनी से उसे लगभग 8,00,000 डॉलर मूल्य के हीरे देने के लिए कहा और दावा किया कि वह उन्हें कॉस्टको होलसेल कॉर्पोरेशन नाम की कंपनी को संभावित बिक्री के लिए दिखाएगा.

कॉस्टको एक मार्केटिंग चेन है जो अपने सदस्यों के रूप में जुड़ने वाले ग्राहकों को कम कीमत पर हीरे बेचती है. फिर मोदी ने दावा किया कि कॉस्टको हीरे खरीदने के लिए सहमत हो गया है और LLD ने उसे 90 दिनों के भीतर भुगतान करने का क्रेडिट दिया. इसके बाद कॉस्टको ने उन हीरों को शॉर्ट टर्म लोन के लिए किसी अन्य कंपनी को दे दिया. इसके बाद फिर से LLD से और हीरे लिए लेकिन उन्हें बेहद मामूली भुगतान किया गया.

ये भी देखें- Israel के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने लगवाई Corona Vaccine, टीवी पर हुआ लाइव प्रसारण 

मैनहट्टन में दर्ज हुआ आर्थिक धोखाधड़ी का मामला
LLD को जब धोखाधड़ी का पता चला तब तक छोटा मोदी हीरे बेचकर माल हजम कर चुका था. इसके बाद LLD ने मैनहट्टन के प्रोसीक्यूटर के ऑफिस में शिकायत दर्ज कराई थी.

LIVE TV

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.