जैश आतंकियों के कब्जे से मिली 'स्टील कोर' गोलियां, सुरक्षा एजेंसियों के खड़े हुए कान

Level-3 बुलेटप्रूफ गाड़ी को भी पार करने की मारक क्षमता रखती हैं स्टील कोर बुलेट्स, चीन में होता है निर्माण

जैश आतंकियों के कब्जे से मिली 'स्टील कोर' गोलियां, सुरक्षा एजेंसियों के खड़े हुए कान
आतंकियों से बरामद हथियार बड़ी मारक क्षमता वाले थे.

श्रीनगर: जम्मू-कश्मीर में नगरोटा के नजदीक टोल प्लाजा के पास बीते शुक्रवार को सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में 3 जैश आतंकवादी मारे गए थे. आतंकियों के कब्जे से बरामद हथियारों के जखीरे में शामिल स्टील कोर बुलेट्स मिलने से सुरक्षा एजेंसियो के कान खड़े हो गए हैं. लेवल-3 बुलेटप्रूफ व्हीकल को भी पार करने की मारक क्षमता वाली गोलियों का मिलना आतंकियों द्वारा किसी बड़े लक्ष्य को निशाना बनाना हो सकता है.

एनकाउंटर के तुरंत बाद मुठभेड़ स्थल का मुआयना करने आए सीआरपीएफ के डीजीपी डॉ. एपी महेश्वरी का भी मानना है कि आतंकियों से बरामद हथियार बड़ी मारक क्षमता वाले थे. इसको लेकर पकड़े गए ओवर ग्राउंड वर्कर्स से पूछताछ चल रही है.

रक्षा विशेषज्ञ ब्रिगेडियर (रिटायर्ड) अनिल गुप्ता का कहना है कि स्टील कोर बुलेट एक deadly ammunition है. कश्मीर में इसका इस्तेमाल आतंकी पहले भी कर चुके हैं. यह महंगा गोलाबारूद है. इसकी मैन्युफैक्चरिंग चीन करता है और वह इसे पाकिस्तान को सप्लाई करता है.

ट्रक ड्राइवर पुलवामा आत्मघाती हमलावर का रिश्तेदार
आतंकियों की मदद करने वाला यह व्यक्ति पुलवामा के आत्मघाती हमलावर आदिल डार का चचेरा भाई समीर डार है. आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के तीन आतंकवादियों को ले जा रहे एक ट्रक को जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग स्थित एक टोल प्लाजा पर पुलिस ने रोका. इसके बाद शुरू हुई मुठभेड़ में तीनों आतंकी मारे गए जबकि कार्रवाई के दौरान एक पुलिसकर्मी घायल हो गया. ड्राइवर और कंडक्टर सहित आतंकियों के तीन सहयोगियों को गिरफ्तार कर लिया गया है.

समीर ने कश्मीर विश्वविद्यालय से भू-गर्भशास्त्र में स्नातकोत्तर किया है. आतंकियों के सहयोगियों के रूप में गिरफ्तार हुए तीनों आरोपियों से पूछताछ जारी है.

मुठभेड़ समाप्त होने के बाद आतंकवादियों के पास से वायरलेस सेट और कार्बाइन सहित भारी मात्रा में हथियार और गोला बारूद बरामद किए गए थे.