AIIMS में नौकरी दिलाने के नाम पर करते थे ठगी, पुलिस ने ऐसे किया पर्दाफाश

गैंग के सदस्यों ने बताया कि वो जॉब तलाश रहे लोगों को कॉल करती थी और जब कोई शख्स उसकी बातों में फंस जाता तो आगे की बातचीत करते के बहाने उसे दिल्ली भेज देती थी. इस दौरान वो शख्स को सुमांता का नंबर भी देती थी जो फीस और एप्लिकेशन के नाम पर शख्स से पैसे ठगा करता था.

AIIMS में नौकरी दिलाने के नाम पर करते थे ठगी, पुलिस ने ऐसे किया पर्दाफाश

नई दिल्ली: AIIMS में नौकरी दिलाने के नाम पर लोगों से ठगी (Job SCAM) करने वाला एक गैंग दिल्ली पुलिस (Delhi Police) के हाथ लग गया है. रैकेट का पर्दाफाश करते हुए पुलिस ने पश्चिम बंगाल (West Bengal) के रहने वाले सुमांता चटर्जी को गिरफ्तार किया है. वहीं आरोपी की साथी महिला की फरार है, जिसकी तलाश की जा रही है.

साउथ डिस्ट्रिक्ट के डीसीपी अतुल ठाकुर ने बताया, ''हमें नेहा शर्मा नाम की एक महिला द्वारा शख्स को एम्स में जॉब दिलाने के नाम पर 30 हजार रुपये ठगने की सूचना मिली थी. शख्स ने बताया कि महिला ने उसे दिल्ली बुलाया था और सुमांता चटर्जी का नंबर देकर उससे बात करने के लिए कहा था. पुलिस ने बताया की जॉब प्रोसेस के लिए जब पीड़ित दिल्ली आकर सुमांता से मिला, तो उसने बड़ी-बड़ी बातें करके उसे नौकरी दिलाने का पूरा भरोसा दिया. 

इसी दौरान पीड़ित को शक हुआ और वो जांच पड़ताल करने के लिए दिल्ली एम्स पहुंच गया. यहां उसने सुमांता को कुछ लोगों के साथ नौकरी दिलाने की बात करते और उनसे पैसे लेते देखा. इसी दौरान सुमांता ने फर्जी स्टाम्प के जरिए एम्स का मूवमेंट पास भी लोगों को दिया, तभी किसी को शक ना हो, जिसे पीड़ित ने भी देख लिया. पीड़ित को विश्वास हो गया कि उसके साथ ठगी हो रही है, जिसके बाद उसने तुरंत पास के पुलिस स्टेशन में जाकर शिकायत दर्ज करा दी.

ये भी पढ़ें:- पूर्व समाजवादी पार्टी नेता और राज्य सभा सांसद अमर सिंह का निधन, लंबे समय से थे बीमार

इस मामले में टेक्निकल सर्विलांस के आधार पर पूछताछ के बाद पुलिस ने सुमांता को गिरफ्तार कर लिया. पुलिस ने उसके पास से फर्जी स्टाम्प, एम्स के फर्जी मूवमेंट पास, फर्जी अपॉइंटमेंट लेटर बरामद किए हैं. पूछताछ में सुमांता ने बताया कि इन लोगों ने दिल्ली समेत देश के कई राज्यों में लोगों के साथ ठगी की है. 

सुमांता ने पूछताछ में बताया कि वो पश्चिम बंगाल का रहने वाला है और पहले नोएडा में गार्ड की नौकरी करता है. जल्दी पैसे कमाने के चक्कर मे लोगों के साथ ठगी की वारदात को अंजाम दे रहा था. जांच में पता चला की इस गैंग की अहम किरदार नेहा शर्मा है जो अभी भी पुलिस की पकड़ से दूर है और उसक तलाश की जा रही है.

गैंग के सदस्यों ने बताया कि वो जॉब तलाश रहे लोगों को कॉल करती थी और जब कोई शख्स उसकी बातों में फंस जाता तो आगे की बातचीत करते के बहाने उसे दिल्ली भेज देती थी. इस दौरान वो शख्स को सुमांता का नंबर भी देती थी जो फीस और एप्लिकेशन के नाम पर शख्स से पैसे ठगा करता था. अब पुलिस नेहा शर्मा की तलाश कर रही है.

LIVE TV