UP: ये गलतियां करने पर रुकेगी लाखों छात्रों की छात्रवृत्ति! जानें यहां
X

UP: ये गलतियां करने पर रुकेगी लाखों छात्रों की छात्रवृत्ति! जानें यहां

मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो समाज कल्याण विभाग की तरफ से छात्रों के खातों में 28 दिसंबर तक छात्रवृत्ति के पैसे भेजे जा सकते हैं. ऐसे में 15 जनवरी तक सभी छात्रों को पैसा मिल जाएगा. 

UP: ये गलतियां करने पर रुकेगी लाखों छात्रों की छात्रवृत्ति! जानें यहां

नई दिल्ली. उत्तर प्रदेश सरकार (UP Government) की तरफ से हर वर्ष लाखों छात्रों को स्कॉलरशिप दी जाती है. लेकिन कुछ छात्र फर्जी कागजात की वजह से स्कॉलरशिप का लाभ ले लेते हैं, ऐसे में कई जरूरतमंद छात्रों को छात्रवृत्ति नहीं मिल पाती है. इसको लेकर प्रदेश की योगी सरकार इस बार कड़े कदम उठा रही है. इसके मुताबिक इस बार ऐसे छात्रों की स्कॉलरशिप रोक दी जाएगी, जो फर्जी कागजात या फिर गलत सूचना देंगे. आइए जानते हैं कि किन कारणों से छात्रों की स्कॉलरशिप रोकी जा सकती है... 

इन वजहों से रुक सकती है स्कॉलरशिप
1. उन छात्रों पर कार्रवाई की जा सकती है, जो स्कॉलरशिप लेने के बाद भी स्कूल और कॉलेज की फीस नहीं जमा करते हैं. 
2. इस बार डॉक्यूमेंट्स का वेरिफिकेशन भी कई चरणों में किया जाएगा. ताकि फर्जी छात्रवृत्ति लेने वाले स्टूडेंट्स को बाहर किया जा सके.
3. स्कॉलरशिप की टीम इस बार फॉर्म के साथ जमा सभी पेपर की जांच करेगी. साथ ही ऑनलाइन आवेदन को भी दो बार चेक किया जाएगा. ऐसे में अगर ऑनलाइन और प्रिंट आउट के पेपर अलग-अलग पाए जाते हैं, तो इस बारे में संबंधित स्टूडेंट्स को मोबाइल फोन पर मैसेज भेजा जाएगा. मैसेज के जरिए छात्रों को एक बार इंफॉर्मेशन को सुधारने का मौका दिया जाएगा. प्रूफ भी देना होगा. अगर कोई छात्र प्रूफ नहीं दे पाता है, तो उसकी स्कॉलरशिप रोक दी जाएगी. 
4. इस बार छात्रों द्वारा लगाई जाने वाली इनकम सर्टिफिकेट भी जांच कराई जाएगी. अगर कोई छात्र परिवार का फर्जी इनकम सर्टिफिकेट लगाएगा तो उस स्टूडेंट्स का भी फॉर्म रिजेक्ट कर दिया जाएगा. इसके साथ ही उसका नाम ब्लैकलिस्ट में भेज दिया जाएगा.

28 दिसंबर तक भेजी जा सकती है छात्रवृत्ति
मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो समाज कल्याण विभाग की तरफ से छात्रों के खातों में 28 दिसंबर तक छात्रवृत्ति के पैसे भेजे जा सकते हैं. ऐसे में 15 जनवरी तक सभी छात्रों को पैसा मिल जाएगा. पिछले साल कोरोना संकट के चलते 39 लाख छात्र-छात्राओं को ही स्कॉलरशिप मिल पाई थी. इनमें अनुसूचित जाति-जनजाति, सामान्य वर्ग के आर्थिक रूप से कमजोर, ओबीसी और अल्पसंख्यक छात्र-छात्राएं शामिल थे.

लेकिन इस बार योगी सरकार का प्लान पिछले साल के मुकाबले करीब 16 लाख और अधिक छात्र-छात्राओं को छात्रवृत्ति और फीस भरपाई करने की है. इस तरह लगभग 55 लाख छात्र-छात्राओं को इस साल पैसे दिए जाएंगे. 

WATCH LIVE TV

 

Trending news