Board Exams 2019: साइंस की तैयारी के दौरान इन बातों का रखें ध्यान, नहीं कम होंगे नंबर

स्टूडेंट्स की टेंशन का सबसे बड़ा कारण होता है मैथ्स और साइंस के सब्जेक्ट का पेपर, जिसे लेकर स्टूडेंट्स हमेशा तनाव में रहते हैं.

Board Exams 2019: साइंस की तैयारी के दौरान इन बातों का रखें ध्यान, नहीं कम होंगे नंबर
(प्रतीकात्मक तस्वीर)

नई दिल्लीः 10 वीं और 12 वीं बोर्ड एग्जाम्स की तारीख नजदीक है, जिसे लेकर अब स्टूडेंट्स की टेंशन और भी बढ़ती जा रही है. ऐसे में स्टूडेंट्स की टेंशन का सबसे बड़ा कारण होता है मैथ्स और साइंस के सब्जेक्ट का पेपर, जिसे लेकर स्टूडेंट्स हमेशा तनाव में रहते हैं. हालांकि विशेषज्ञों का कहना है कि बच्चों को हमेशा शांत मन से और बिना टेंशन के पढ़ाई करना चाहिए, लेकिन बोर्ड का नाम सुनते ही स्टूडेंट्स की धड़कनें तेज हो जाती हैं और हो भी क्यों न, उन पर हमेशा दूसरे से बेहतर कर दिखाने का बोझ जो बना रहता है. ऐसे में हम 10वीं और 12वीं के स्टूडेंट्स को कुछ साइंस की प्रिपरेशन के कुछ ऐसे टिप्स देने जा रहे हैं, जिससे न सिर्फ उनकी टेंशन दूर होगी, बल्कि वह शांत मन से पढ़ाई कर सकेंगे.

सैंपल पेपर की लें मदद
बोर्ड एग्जाम्स में पेपर का पैटर्न समझने के लिए आप सैंपल पेपर की मदद ले सकते हैं. इससे आपको यह समझ आ जाएगा कि आपको किन प्रश्नों को पहले करना है और किन्हें बाद में. इन्हें सॉल्व करने से आपका टेंशन भी कम होगा, जिससे आने वाले समय में आप शांत दिमाग से पेपर दे पाएंगे और सामान्य तौर पर होने वाले कन्फ्यूजन से बचेंगे.

Board Exams 2019: तनावमुक्त होकर करें परीक्षा की तैयारी, जल्दी याद होगा सिलेबस

अंतिम समय के लिए न छोड़ें सिलेबस
रिवीजन के समय पर अंतिम समय के लिए कुछ न छोड़ें, क्योंकि अंतिम समय पर होने वाली टेंशन के चलते अक्सर चीजें छूट जाती हैं. इसलिए परीक्षा के 2 महीने पहले से अपना सिलेबस खत्म कर रिवीजन शुरू कर दें और अंतिम समय के लिए कुछ न छोड़ें.

कॉन्सेप्ट क्लियर होने पर ही दूसरे प्रश्न पर जाएं
अगर एक प्रश्न का कॉन्सेप्ट क्लियर नहीं है तो उसे छोड़कर दूसरे को पढ़ना शुरू न करें. क्योंकि अगर पहले का कॉन्सेप्ट क्लियर नहीं है तो दूसरा आपको और उलझा देगा. इसलिए अगर कुछ समझ नहीं आ रहा है तो उसे अपनों से बड़ों से पूछ लें, इससे आप उलझन से बच सकेंगे.

Board Exams 2019: छात्र परीक्षा के दौरान ध्यान रखें ये बातें, नहीं छूटेगा एक भी प्रश्न

नई किताबें पढ़ने से बचें
परीक्षा के समय कभी नई किताबें पढ़ने की कोशिश न करें. इससे आप कंफ्यूज हो सकते हैं. इसलिए कोशिश करें कि अगर आपको खाली समय में कुछ पढ़ने का मन कर रहा है तो अपनी ही किताबें उठाएं. अगर फिर भी मन नहीं लग रहा तो थोड़ा समय एंटरटेनमेंट को दें, लेकिन दूसरी किताबें पढ़ने से बचें.

टाइम मैनेजमेंट
कहीं भी, कभी भी पढ़ना शुरू कर देने वाली आदत छोड़ें और पढ़ाई के लिए अपना अलग टाइम टेबल बनाएं और उसी के हिसाब से पढ़ाई करें. कम से कम 7 घंटे की नींद जरूर लें साथ ही खाने पर भी पूरा ध्यान दें. नहीं तो आपकी सेहत पर असर पड़ सकता है.