CBSE Board Exams 2021-22: स्टूडेंट्स बोले- हाइब्रिड मोड में हो एग्जाम, लेकिन ऑफलाइन पर अड़ा CBSE
X

CBSE Board Exams 2021-22: स्टूडेंट्स बोले- हाइब्रिड मोड में हो एग्जाम, लेकिन ऑफलाइन पर अड़ा CBSE

CBSE Board Exams 2021-22: स्टूडेंट्स ने सोशल मीडिया पर मुहिम छेड़ते हुए ऑफलाइन और ऑनलाइन दोनों मोड में एग्जाम करवाने की मांग की.

CBSE Board Exams 2021-22: स्टूडेंट्स बोले- हाइब्रिड मोड में हो एग्जाम, लेकिन ऑफलाइन पर अड़ा CBSE

नई दिल्लीः CBSE Term 1 Board Exams 2021-22: CBSE (Central Board of Secondary Education) ने पिछले दिनों आदेश जारी करते हुए बताया था कि शैक्षणिक सत्र 2021-22 टर्म-1 परीक्षा का आयोजन ऑफलाइन मोड में होगा. विभाग द्वारा आदेश जारी करते ही छात्रों ने ऑफलाइन और ऑनलाइन दोनों ही मोड में एग्जाम कंडक्ट करवाने की मांग की. छात्रों ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर आंदोलन छेड़ते हुए दोनों ही विकल्पों में एग्जाम दे सकने की मांग सामने रखी. 

सोशल मीडिया पर छात्रों के एक वर्ग द्वारा मुहिम भी चलाई जा रही है. हालांकि CBSE ने साफ किया है कि एग्जाम ऑफलाइन मोड में ही होगी, साथ ही उन्होंने सुनिश्चित किया कि एग्जाम में कोरोना प्रोटोकॉल का ध्यान रखते हुए सभी तरह की सावधानियां बरती जाएंगी. 

स्टूडेंट्स ने बताईं ये समस्याएं
स्टूडेंट्स ने बताया कि उनका टीकाकरण अभी तक नहीं हुआ है. साथ ही उन्होंने CISCE (Council For The Indian School Certificate Examination) का हवाला देते हुए कहा कि वहां ऑफलाइन और ऑनलाइन दोनों ही मोड में टर्म-1 की परीक्षा आयोजित हो रही है. फिर CBSE में ऐसा क्यों नहीं हो रहा? CBSE के छात्रों ने भी हाइब्रिड मोड में परीक्षा का आयोजन करवाने की मांग की. 

यह भी पढ़ेंः- RPSC RAS Exam 2021: एडमिट कार्ड जारी, एग्जाम सेंटर में एंट्री से पहले जान लें गाइडलाइंस

NIOS ने भी पेश किया था सुझाव
CISCE के अलावा NIOS (National Institute Of Open Learning) ने भी पिछले दिनों कहा था कि वह 2022 के शैक्षणिक सत्र से ऑनलाइन बोर्ड एग्जाम करवाने की पेशकश करेगा. NIOS बोर्ड में इस वक्त 40 लाख स्टूडेंट्स हैं, जिनमें से हर साल करीब 5 लाख कैंडिडेट फाइनल एग्जाम में बैठते हैं. NIOS के कई स्टूडेंट्स ऐसे क्षेत्रों में भी रहते हैं, जहां इंटरनेट सुविधाएं उपलब्ध नहीं हैं, ऐसे छात्रों के लिए वे ऑफलाइन मोड में भी परीक्षा आयोजित करवाएंगे. 

CBSE ने दिया सावधानियां बरतने का आश्वासन
स्टूडेंट्स के सोशल मीडिया पर चलाए जा रहे अभियान और हाइब्रिड मोड में एग्जाम के बावजूद CBSE ने साफ किया कि वे ऑफलाइन मोड में ही एग्जाम लेंगे. साथ ही उन्होंने एग्जाम के दौरान कोविड प्रोटोकॉल के तहत सभी तरह की सावधानियां बरतने का आश्वासन दिया. उन्होंने निष्पक्ष परीक्षा सुनिश्चित करवाते हुए कहा कि इंवीजिलेटर की नियुक्ति CBSE द्वारा की जाएगी. बता दें कि बोर्ड इस साल दो सत्रों में परीक्षा आयोजित करवाएगा, हर सत्र में 50 फीसदी कोर्स शामिल किया जाएगा. 

यह भी पढ़ेंः- DU Admission 2021: हाई कट-ऑफ के चलते नहीं मिल पा रहा एडमिशन! इस तरह पूरा करें DU में पढ़ने का सपना

WATCH LIVE TV

Trending news