close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

विशेष जरूरत वाले बच्चे बोर्ड परीक्षा में लिखने के लिए लैपटॉप की मदद ले सकेंगे : CBSE

इसके लिए उम्मीदवारों को किसी चिकित्सक या योग्य मनोवैज्ञानिक परामर्शदाता की ओर से प्रमाण पत्र पेश करना होगा जिसमें कंप्यूटर की सुविधा की सिफारिश की गई हो और इसके साथ ही सिफारिश का आधार भी बताया गया हो

विशेष जरूरत वाले बच्चे बोर्ड परीक्षा में लिखने के लिए लैपटॉप की मदद ले सकेंगे : CBSE
(फाइल फोटो)

नई दिल्ली: विशेष जरूरत वाले बच्चे कक्षा 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षा में इस साल से परीक्षा में लिखने के लिए कंप्यूटर या लैपटॉप की मदद ले सकेंगे. केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) ने इस बाबत प्रस्ताव स्वीकार कर लिया है. यह बात एक आधिकारिक आदेश में कही गई. 

पेश करना होगा प्रमाण पत्र 
इसके लिए उम्मीदवारों को किसी चिकित्सक या योग्य मनोवैज्ञानिक परामर्शदाता की ओर से प्रमाण पत्र पेश करना होगा जिसमें कंप्यूटर की सुविधा की सिफारिश की गई हो और इसके साथ ही सिफारिश का आधार भी बताया गया हो. 

परीक्षा देने की योग्यता रखने वाले किसी स्टूडेंट का प्रवेश पत्र नहीं रोका जा सकता : CBSE

 

सीबीएसई की परीक्षा समिति ने अपनी हालिया बैठक में इस साल से विशेष जरूरत वाले बच्चों को रियायत देने संबंधी मुद्दे का समाधान कर दिया. आदेश में कहा गया, ‘‘ कंप्यूटर का इस्तेमाल उत्तर टाइप करने, बड़े आकार के शब्दों में प्रश्नों को देखने और प्रश्न सुनने में किया जा सकता है. संबद्ध उम्मीदवार फॉरमेट किया हुआ कंप्यूटर अथवा लैपटॉप लाएं और केंद्र का अधीक्षक कंप्यूटर की जांच किए जाने के बाद ही उम्मीदवार को इसकी इजाजत देगा. ’’ 

कंप्यूटर/लैपटॉप में इंटरनेट कनेक्शन नहीं होना चाहिए
इसमें कहा गया कि कंप्यूटर/लैपटॉप में इंटरनेट कनेक्शन नहीं होना चाहिए. इस तरह की व्यवस्था के लिए उम्मीदवार को पहले से अनुरोध करना होगा. उम्मीदवार के टाइप करके निकाले गए उत्तरों के प्रिंट आउट पर निरीक्षक हस्ताक्षर करेगा और केंद्र अधीक्षक इसकी पुष्टि करेगा. बोर्ड ने रीडर के प्रावधान को भी मंजूरी दे दी. रीडर ऐसे मामले में उपलब्ध कराया जाएगा जहां विशिष्ट रूप से सक्षम छात्र को कंप्यूटर, लैपटॉप जैसी सुविधा की जगह प्रश्नपत्र पढ़ने के लिए किसी व्यक्ति की आवश्यकता हो.