नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी में दिल्लीवासियों के 50 फीसदी आरक्षण पर हाई कोर्ट ने लगाई रोक

हाई कोर्ट ने नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी से एलएलबी और एलएलएम में दाखिले के लिए आवेदन की तारीख को एक सप्ताह और बढ़ाने के लिए कहा है.

नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी में दिल्लीवासियों के 50 फीसदी आरक्षण पर हाई कोर्ट ने लगाई रोक
प्रतीकात्मक फोटो

नई दिल्ली: नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी (LNU) में दिल्लीवासियों के 50 फीसदी आरक्षण पर दिल्ली हाई कोर्ट ने सोमवार को रोक लगा दी. दिल्ली हाई कोर्ट ने कहा कि अभी यथास्थिति बनाई रखी जाए. हाई कोर्ट ने नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी से एलएलबी और एलएलएम में दाखिले के लिए आवेदन की तारीख को एक सप्ताह और बढ़ाने के लिए कहा है.

आपको बता दें कि नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी प्रसाशन ने दिल्लीवासियों के लिए 50 फीसदी सीटें आरक्षित कर दी थीं. हाई कोर्ट ने अपने आदेश में कहा कि नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी अपनी आधिकारिक वेबसाइट पर 2 जुलाई से पहले प्रवेश के लिए फ्रेश एडमिशन नोटिफिकेशन जारी करे, जिसमें लिखा जाए कि दाखिले की अवधि को एक सप्ताह के लिए बढ़ा दिया गया है.

इस मामले की अगली सुनवाई हाई कोर्ट में 18 अगस्त को होगी. याचिकाकर्ता पिया सिंह ने नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी के इस फैसले को चुनौती देते हुए दिल्ली कोर्ट में याचिका दायर की थी. याचिका में मांग की गई थी कि नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी द्वारा दिल्ली के कॉलजों से डिग्री हासिल करने वाले छात्रों को 50 फीसदी आरक्षण देना संविधान के आर्टिकल 15/3 का उल्लंघन है इसीलिए इस पर रोक लगाई जाए. नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी का ये फैसला किसी भी तरीके से तर्क संगत नहीं है. दिल्ली हाई कोर्ट ने याचिकाकर्ता की इस बात को मानते हुए फिलहाल नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी में दिल्लीवासियों के लिए 50 फीसदी आरक्षण पर रोक लगा दी है.

ये भी पढ़ें- ED को मिले पुख्ता सबूत, दिल्ली दंगे के आरोपियों से जुड़े हैं मौलाना साद के तार

ये वीडियो भी देखें-